अंतरराष्ट्रीय गुरुकुल सम्मेलन का शुभारंभ, 6 देशों से 3500 विद्वान पहुंचे उज्जैन

मप्र संस्कृति विभाग और नागपुर के भारतीय शिक्षण मंडल का अंतरराष्ट्रीय गुरुकुल सम्मेलन का शुभारंभ शनिवार शाम 4 बजे चिंतामन रोड स्थित राष्ट्रीय वेद विद्या प्रतिष्ठान परिसर में हुआ। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख डॉ.मोहन भागवत, केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपस्थित थे। तीन दिन तक चलने वाले इस सम्मेलन में 3500 प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। सम्मेलन में गुरुकुलों की व्यवस्था पर मंथन होगा। 30 अप्रैल को अंतिम दिन घोषणा पत्र जारी किया जाएगा।

इंडोनेशिया, म्यांमार और श्रीलंका के प्रतिनिधी भी
सम्मेलन में नेपाल, भूटान, इंडोनेशिया, म्यांमार, श्रीलंका से भी गुरुकुल प्रतिनिधि भाग लेंगे। इन प्रतिनिधियों में गुरुकुल विद्यार्थी, आचार्य, विश्वविद्यालयों के कुलपति, शिक्षाविद् शामिल हैं। सम्मेलन में आने वाले सुझावाें को केन्द्र सरकार को सौंपा जाएगा। सम्मेलन प्रारंभ होने से पहले शनिवार दोपहर मंगलनाथ रोड स्थित सांदीपनि आश्रम में भगवान श्रीकृष्ण की 64 कलाओं की चित्र वीथिका का अनावरण भी किया गया।