MP में बनी कांग्रेस सरकार, तो 10 दिन में किसान का कर्ज माफ: राहुल गांधी

मंदसौर/इंदौर.मंदसौर गोलीकांड की पहली बरसी पर शामिल होने के लिए राहुल गांधी खोखरा गांव पहुंचे। उन्होंने कहा कि मोदीजी ने किसानों के साथ धोखा किया। उन्होंने किसानों को फसलों की सही कीमत देने का वादा किया था। लेकिन वे सब में फेल हो गए। इससे पहले वे किसान आंदोलन में मारे गए किसानों के परिजनों से मिलने पहुंचे। उनसे करीब 10 मिनट तक बात की। इस आंदोलन में मारे गए किसान अभिषेक पाटीदार के परिवार ने आरोप लगाया है कि सरकार के अफसर उन पर राहुल गांधी से मुलाकात न करने और सभा में न जाने का दवाब बना रहे हैं। परिवार वालों ने बताया- एसडीएम ने हमें राहुल गांधी से न मिलने की हिदायत दी।

राहुल ने कहा- ” मुझे बताया गया कि 1200 किसानों ने मध्यप्रदेश में आत्महत्या की है। एक के बाद एक मंदसौर के किसान आत्महत्या कर रहे हैं। क्या हिंदुस्तान में सबसे अमीर लोगों ने लाखों करोड़ का एनपीए है। 2.5 लाख करोड़ मोदी ने खुद उनको दिया। क्या इन लोगों के परिवारों में किसी ने आत्महत्या की? किसान को बताया जाता है कि कर्ज है, जाओ आत्महत्या करो। हिंदुस्तान के सबसे अमीर लोगों पर लाखों-करोड़ों का कर्ज होता है। कहते हैं आप माल्या है, ललित मोदी हैं, नीरव मोदी हैं हमसे और पैसा लो और भाग जाओ। ना सजा होगी ना कार्रवाई होगी 30 हजार करोड़ नीरव मोदी की जेब में जाएंगे।”

– ” नरेंद्र मोदी मेहुल चौकसी को मेहुल भाई कहते, नीरव मोदी को नीरव भाई कहते हैं। नीरव भाई और मेहुल भाई को मोदी जी ने 30 हजार करोड़ रुपया दिया। इतने रुपए के साथ आप मध्य प्रदेश के हर किसान का दो बार कर्ज माफ कर सकते हो। पूरे देश के युवाओं ने नरेंद्र मोदी जी पर भरोसा किया। आज खुशी है मुझे कि इस भीड़ में हजारों-लाखों युवा खड़े हैं। मैं आपको कहना चाहता हूं कि उन्होंने किसानों को धोखा दिया, उन्हें सही दाम दिलवाने का भरोसा दिया था। लहसुन का क्या दाम मिलता है, 200। यूपीए की सरकार में आपको लहसुन, सोयाबीन का क्या दाम मिलता था।”