अगले सत्र तक टला ट्रिपल तलाक बिल, सरकार लाएगी अध्यादेश

केंद्र सराकर जिस ट्रपिल तलाक बिल को इस सत्र में पास करवाने की कोशिश में थी वो अब अगले सत्र तक के लिए टल गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तीन तलाक बिल को राज्यसभा में लाने पर सहमति नहीं बन पाई है और इस कारण अब इसे अगले सत्र में पेश किया जाएगा। इससे पहले केंद्र सरकार इस बिल को लेकर एक अध्यादेश भी जारी करेगी।

राज्यसभा में सभापति वैकेंया नायडू ने सदन को जानकारी दी कि इस पर सहमति नहीं बनने के कारण इसे फिलहाल रोक दिया गया है। बता दें कि आज संसद के मानसून सत्र का आखरी दिन था।इससे पहले विपक्ष की मांगों को स्वीकार करते हुए कैबिनेट ने एक साथ तीन तलाक विधेयक में संशोधनों को हरी झंडी देते हुए राज्यसभा में लाने की तैयारी थी। खबर यह भी थी कि अगर बिल राज्यसभा में पास होता है तो संसद सत्र एक दिन के लिए बढ़ाया जा सकता है।

बिल को राज्यसभा में पास करवाने के लिए सरकार रणनीति बनाने में लगी है और इसके लिए संसद में ही भाजपा की बैठक भी हुई। इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी और रवि शंकर प्रसाद मौजूद रहे।

राज्यसभा में बिल पेश होने से पहले इसे लेकर कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने कहा कि महिलाओं के साथ हर समाज में बुरा व्यवहार होता है। सिर्फ मुस्लिम ही नहीं बल्कि हिंदू, ईसाई और सिखों में पुरुषों का दबदबा होता है। यहां तक की श्रीराम ने भी सीता पर शक कर उन्हें छोड़ दिया था। इसलिए हमें संपूर्ण रूप से बदलना होगा।