अच्छे शिक्षण के लिए अच्छा प्रशिक्षण जरूरी – मंथन

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा अभावग्रस्त बच्चों के शिक्षण हेतु सामाजिक प्रकल्प चलाया  जा रहा है – मंथन| जिसमे विभिन्न संपूर्ण विकास केन्द्रों के माध्यम से बच्चों का शैक्षणिक,  शारीरिक, मानसिक व् बौधिक विकास हो रहा है| अच्छे शिक्षण के लिए अच्छे प्रशिक्षण की भी  आवश्यकता होती है| इसलिए मंथन द्वारा समय समय पर टीचर्स ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन  किया जाता है| ट्रेनिंग वर्कशॉप के माध्यम से विभिन्न आवश्यक विषयों पर जानकारी दी जाती  है जैसे- शिक्षक अपनी शिक्षण शैली में कैसे सुधार लायें, कैसे हर एक बच्चे की जरुरत व स्तर  का सही आकलन करते हुए अपने पढ़ाने के तरीकों में उचित फेरबदल कर सकें और कैसे बच्चे  को मूल्य आधारित शिक्षा देते हुए उसके संपूर्ण विकास में सहायक बन सके| वर्कशॉप के जरिये  अनेकानेक प्रैक्टिकल एक्टिविटीज भी करवाई जाती है ताकि शिक्षक अपने तरीकों में रोचकता ला  सकें|

दिनांक 15 जुलाई 2017 को दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के मुख्यालय पीतमपुरा, दिल्ली में  ऐसी ही एक टीचर्स ट्रेनिंग वर्कशॉप का आयोजन किया गया जिसमे दिल्ली-एनसीआर के संपूर्ण  विकास केन्द्रों के सभी शिक्षकों ने भाग लिया|

वर्कशॉप का मुख्य आकर्षण रहा मंथन द्वारा  “लाइफ स्किल वर्कशॉप” पर प्रकाशित की गई पुस्तक पर चर्चा व् विभिन्न रोचक गतिविधियाँ  जिनके माध्यम से बच्चों को जीवन जीने का कौशल बड़ी ही सरलता व् सहजता से सिखाया जा  सके| इस ट्रेनिंग वर्कशॉप को विशिष्ट काउंसलर व् ट्रेनर श्रीमती उमा नारायण जी ने व मोहिता  शर्मा जी ने लिया|  सभी टीचर्स को इस वर्कशॉप से अत्यधिक लाभ मिला और मंथन शिक्षा के विकास हेतु ऐसी  वोर्क्शोप्स आगे भी आयोजित करता रहेगा|