अब बन्द हुआ बैरागी का आफिस आना

उज्जैन। जिला सहकारी संघ के पुर्व प्रबंधक जगदीश बैरागी को कार्य मुक्त किये जाने के निर्देश उपायुक्त ओपी गुप्ता ने 25 जुन को जारी किये थे। उसके बाद भी बैरागी ने 7 जुलाई तक ऑफिस की अलमारी की चाबी जमा न कर कब्जा जमाया हुआ था। उपायुक्त को फिर से शिकायत मिलनें पर संघ के अध्यक्ष को निर्देश दिये गये तब जाकर बैरागी ने चाबी जमा करा कर कार्यालय आना बन्द किया।
गौरतलब है कि बैरागी को 31 जनवरी को ही सेवानिवृत किया जाना था पर संघ के संचालक मण्डल की मेहरबानी के चलते बैरागी ने 25 जुन तक कार्यलय पर कब्जा जमाये रखा। यहां तक की बैंक तथा खुद के दस्तावेज भी बना कर अध्यक्ष योगेन्द्र सिसोदिया से दस्तखत भी कराते रहे थे। उपायुक्त को ये शिकायत भी मिली है कि अवकाश नगदी का भुगतान का 3 लाख रुपए के चेक पर भी अध्यक्ष से दस्तखत करा चुके है।

जबकि उक्त दस्तावेज संघ के वर्तमान प्रबंधक को बनाने चाहिये थे। अध्यक्ष ने भी नियमो की जानकारी के आभाव में दस्तखत कर दिए थे, जिसे बाद में रोका गया। इस मामले मे उपायुक्त ने कहा है कि 25 जुन को ही सेवानिवृत कर चुके है बैरागी को अब संघ कार्यालय नही आना चाहिये। उपायुक्त द्वारा जारी आदेश में 31 अक्टूबर 18 को सेवानिवृत होना दर्शाया है और 25 जुन 18 को सेवानिवृती के आदेश जारी किये है जिस पर उपायुक्त ने अपने हस्ताक्षर किए हैं।