अवंति पाश्र्वनाथ तीर्थ प्रतिष्ठा महोत्सव का आज से आगाज

उज्जैन। देश के 108 पाश्र्वनाथ मंदिरों में शुमार उज्जैन के शिप्रा तट के समीप स्थित अवंति पाश्र्वनाथ तीर्थ की प्रतिष्ठा महोत्सव का आज शनिवार से आगाज होगा। वहीं 2 दिसंबर को लाभार्थी परिवार की ओर से मंदिर देरासर में जाजम बिछाकर सकल श्री संघ को इस पर विराजमान होने का आग्रह किया जायेगा। इस दौरान फरवरी में होने वाले मुख्य प्रतिष्ठा समारोह की विभिन्न बोलियां लगेगी। राजा विक्रमादित्य काल के दो हजार साल पुराने अवंति पाश्र्वनाथ मंदिर का खतरगच्छाधिपति आचार्य जिन मणि प्रभ सागर सूरी की प्रेरणा से जीर्णोद्धार किया गया है। 10 सालों में इस तीर्थ को सफेद मार्बल से नया व भव्य रूप दिया गया है। जिसमें मूलनायक प्रभु अवंति पाश्र्वनाथ की प्रतिमा प्राचीन जगह पर ही विराजमान है। आसपास निर्मित 44 देहरी में कल्याण मंदिर स्त्रोत गाथा व अन्य छोटे मंदिरों में नई प्रतिमाएं प्रतिष्ठित कर अंजन शलाका की जाएगी। 10 फरवरी से आठ दिन तक समारोह पूर्वक विविध आयोजन होंगे। 18 फऱवरी को मुख्य प्रतिष्ठा होगी।