अस्पतालों से नाबालिग गिरोह चुराता था वाहन

 उज्जैन-
निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों के दो पहिया वाहनों को चोरी कर गैरेज पर बेचने वाले नाबालिगों के गिरोह को माधव नगर पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। अब तक पुलिस चोरी के 7 से अधिक वाहन बरामद कर चुकी है। बताया जाता है कि गिरोह में शामिल बालक दीपावली के दूसरे दिन भी पकड़ में आये थे, लेकिन पुलिस ने उनका पहला अपराध मानकर छोड़ दिया था जिसके बाद से बालक पुन: बाइक चोरी में लग गये थे।
देसाई नगर, रामी नगर और ढांचा भवन में रहने वाले तीन बालक निजी अस्पतालों के बाहर खड़े दो पहिया वाहन चोरी करते और घर के पास स्थित गैरेज पर खड़ा कर देते थे। पहले उसकी सर्विसिंग कराते और गैरेज संचालक से उसी बाइक को बेचने की बात करने के बाद औने पौने दामों में चोरी के वाहन बेच भी देते थे। लगातार हो रही वाहन चोरी की वारदातों के चलते माधव नगर पुलिस ने चोरों की तलाश शुरू की। घासमंडी के आगे स्थित निजी अस्पताल में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो उसमें एक बालक वाहन चोरी करते दिखाई दिया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने रामी नगर व ढांचा भवन में रहने वाले दोस्त के साथ वाहन चोरी करना कबूला। तीनों बालकों की निशानदेही पर पुलिस ने अब तक चोरी के 7 वाहन बरामद कर लिये हैं। बालकों ने पुलिस को बताया कि निजी अस्पताल के पास घर होने के कारण वह आसानी से बाइक चोरी कर घर में खड़ी कर लेते और एक दो दिन बाद गैरेज पर ले जाकर सर्विसिंग के बाद बेचते थे।