अस्पताल में हुई 65 वर्षीय पत्नी की मौत, पति नहीं सह पाए पत्नी की जुदाई का गम, पास ही लगा ली फांसी

इंदौर। निजी अस्पताल में भर्ती पत्नी की मौत के बाद उसके पति ने भी अस्पताल के उसी कमरे में फांसी लगाकर अपनी जान दे दी, जिस कमरे में पत्नी भर्ती थी। सुबह जब अस्पताल के कर्मचारियों ने शव को लटका देखा तो घटना का पता चला। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
घटना महू के गेटवेल हास्पिटल की है। पुलिस के अनुसार आज सुबह सूचना मिली थी कि अस्पताल के एक कमरे में वृद्ध का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ है। वहीं उनकी पत्नी पलंग पर मृत अवस्था में है।

सूचना मिलते ही पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और वृद्ध के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल पहुंचाया। मामले में पुलिस ने जांच की तो पता चला कि पातालपानी कोदरिया इलाके में रहने वाली 65 वर्षीय लीलाबाई पति बालाराम को गठिया बाय और चलने में परेशानी होने के कारण उपचार लिए गेटवेल अस्पताल के कमरा नंबर 202 में भर्ती कराया गया था। लीलाबाई के साथ कल रात उनके पति बालाराम (70) अस्पताल में रूके हुए थे।

आज सुबह जब अस्पतालकर्मी कमरे में पहुंचे तो दोनों के शव पड़े मिले। अपने माता-पिता की मौत की खबर मिलते ही उनके बेटे अजय और विजय तथा अन्य परिजन भी तत्काल अस्पताल पहुंच गए। परिजनों ने बताया कि बालाराम खेती-किसानी करते थे। दंपति के बीच काफी प्रेम था। माना जा रहा है कि रात में लीलाबाई की मौत के बाद बालाराम सदमा बर्दाश्त नहीं कर सके और उन्होंने भी अपनी जान दे दी।