आत्मविश्वास के लिए जरूरी हैं स्किल्स, इन्हें निखारें

कुछ समय तक निरंतर अपने प्रयास में सफलता न मिलना अपने धैर्य को परखने का वक्त होता है। इसका प्रभाव व्यक्ति के आत्मविश्वास पर पड़ता है। परिणाम यह होता है कि आत्मविश्वास डगमगाने लगता है। इसलिए आप अपने मनोबल टूटने के कारणों को पहचानें और आगे दिए प्वाइंट्स को अपना कर अपने आत्मविश्वास को निखारें यही सफलता का मूल मंत्र है।

आत्मविश्वास क्यों जरूरी है?

– आपके शब्दों में झलकता आत्मविश्वास आपके जवाबों की विश्वसनीयता और आपकी उम्मीदवारी को मजबूत करता है।

– आत्मविश्वास से भरपूर होना नेटवर्किंग करने, अपनी फील्ड के संबंध में अपडेट रहने और नए अवसरों का लाभ उठाने में मदद करता है।

– किसी मुद्दे पर बातचीत करते समय आप अपनी शर्तों पर अधिक बेहतर तरीके से बात कर पाते हैं।

– आत्मविश्वास और सकारात्मक सोच में सीधा संबंध है। आप निर्णर्य ज्यादा बेहतर तरीके से कर पाते हैं।

आत्मविश्वास की कमी क्यों? 
आत्मविश्वास की कमी के कई कारण हो सकते हैं, हो सकता है कि आपको अपना कार्य महत्वपूर्ण नहीं लग रहा हो आपकी अपने काम में रूचि नहीं हो या फिर उसमें सफल होने की उम्मीद न हो। ऐसे में उस विषय पर आपकी पकड़ कमजोर होती है और आपका आत्मविश्वास टूटता है।

कैसे हासिल करें आत्मविश्वास?
नौकरी में बदलाव के लिए कौन सा समय सही रहेगा इसे समझने का प्रयास करें। यदि आप लंबे समय तक एक ही जगह पर अपनी जानकारी और स्किल्स में वृद्धि किए बिना रहते हैं तो यह दीर्घकाल में आपके करियर को प्रभावित करने के साथ आपके आत्मविश्वास को भी कम करता है। यानी आपको अपने कंफर्ट जोन
से बाहर निकलने की जरूरत होगी। अपने करियर लक्ष्यों को पहचानें और उन तक अपनी पहुंच बनाने के लिए प्रयास करते रहें। लगातार लक्ष्य पर फोकस रहना आपको यह समझने में मदद करेगा कि आप कहां पीछे छूट रहे हैं। कमजोर पक्ष के साथ अपने मजबूत पक्षों को भी समझने का प्रयास करें।

अपनी स्किल्स को निखारें – जब आपके पास संबंधित काम का हुनर होता है, उसकी बारीकियों को गहराई से जानते हैं तो आपका आपको खुद की काबीलियत पर
भरोसा होता है। यही भरोसा और विश्वास आपके चेहरे में आत्मविश्वास के रूप में झलकता है। इसलिए किसी भी इंटरव्यू में सफलता हासिल करने के लिए जरूरी है
कि आप अपनी काबीलियत को निखारें। इसलिए आत्मविश्वास पाने के लिए अपनी काबीलियत पर ध्यान दें।