इंदौर से सिखेंगे 10 शहरों के लोग टीबी से मुक्ति के उपाय

इंदौर में चलाए जा रहे टीबी मुक्त अभियान को देखने 10 शहर के प्रतिनिधि 9 व 10 जून को होने वाली वर्कशॉप में हिस्सा लेंगे। शहर में चलाए जा रहे टीबी नियंत्रण कार्यक्रम में मरीजों को खोजकर इलाज करने की पूरी जानकारी लेंगे। इस परिचर्चा में राजकोट, मैसूर, अहमदाबाद, मुंबई के मलाड, लखनऊ, वाराणसी, भोपाल व अन्य शहरों के 70 से अधिक लोग शामिल होंगे। इन शहरों के प्रतिनिधि सीएमएचओ इंदौर डॉ. एचएन नायक, नोडल अधिकारी टीबी विजय छजलानी भी संबोधित करेंगे।

टीबी के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था सीईटीआई की संगीता पाठक ने बताया कि शहर में 8 सौ बस्तियों में घर-घर जाकर इस अभियान के तहत मरीज खोजे जा रहे हैं। साथ ही एप के माध्यम से भी उनकी पूरी जानकारी व लोकेशन तैयार हो रही है। उनकी खकार की जांचकर शासकीय टीबी अस्पताल के माध्यम से निशुल्क इलाज भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इस तरह से किए जा रहे कार्य को देखते हुए अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने यह निर्णय लिया है कि अन्य शहरों में भी इसी तरह से काम किया जाएगा।

यह सभी डॉक्टर्स अपने शहरों को टीबी मुक्त बनाने के लिए वहां के डॉक्टर्स के साथ मिलकर काम करेंगे। इसी को आगे बढ़ाने के लिए यह दो दिनी कार्यशाला होगी। इसमें टीबी जागरूकता, टीबी नोटिफिकेशन, मरीज खोजने का तरीका व इलाज उपलब्ध कराने के बारे में जानकारी देंगे। इस कार्यक्रम में मेडिकल कॉलेज टीबी एंड चेस्ट विभाग प्रभारी डॉ. सलिल भार्गव सभी शहरों के प्रतिनिधियों से विस्तृत चर्चा करेंगे। वहीं किस तरह से अपने शहर को टीबी मुक्त बनाए इसकी जानकारी देंगे।