इस पोजीशन में बैठेगा बच्चा तो रूकेगा शारीरिक और मानसिक विकास

बच्चों को संभालना कोई आसान काम नहीं है। उनके खाने से लेकर सोने तक की हर चीज का खास ख्याल रखना पड़ता है। ज्यादातर पेरेंट्स बच्चे के खाने-पीने व कपड़ों का तो ख्याल तो अच्छे से रख लेते हैं लेकिन वह कैसे उठ-बैठ रहे हैं, उसे नजरअंदाज कर देते हैं।अगर बैठने की आदत व पोश्चर सही न हो तो उन्हें आगे चलकर परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

कई बार बच्चे खेलते, पढ़ते या टीवी देखते समय अपने पैरों को मोड़कर बैठ जाते हैं, जोकि उनके लिए खतरनाक हो सकता है। ज्यादातर बच्चे अक्सर ‘W सिटिंग’ पोजीशन में ही बैठे नजर आते हैं लेकिन इस तरह बैठना बच्चे का शारीरिक और मानसिक विकास नहीं होने देता।

विशेषज्ञों के अनुसार ‘डब्ल्यू’ पोजीशन में बैठने से कूल्हों, घुटनों और जांघों पर दबाव पड़ता है। इसके अलावा ऐसे बैठने से रीढ़ की हड्डी भी कमजोर हो जाती है।’डब्ल्यू’ पोजीशन में बैठने से बच्चों की हड्डी खिसकने का रहता है। इससे वह हड्डियों की बीमारी का शिकार भी हो सकते हैं। इतना ही नहीं, इस पोजिशन में बैठने से बच्चों को लाइफ में आगे चलकर भी हड्डी संबंधी कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है।