इस साल देश में स्मार्टफोन मार्केट 9% तक बढ़ने की उम्मीद

देश में इस साल एक तरफ जहां ऑटो सेक्टर में स्लोडाउन देखने को मिला। वहीं, दूसरी तरफ शहरी और ग्रामीण दोनों इलाकों में स्मार्टफोन की मांग तेजी से बढ़ी है। काउंटरप्वाइंट रिसर्च के एसोसिएट डायरेक्टर तरुण पाठक के मुताबिक, 2019 में देश में स्मार्टफोन मार्केट 9% और 2020 में 12 से 14% तक बढ़ने की उम्मीद है।

एक्सपर्ट का मानना है कि स्मार्टफोन की बढ़ती बिक्री के पीछे सरकार की योजनाएं हैं, जिसने एपल जैसी बड़ी कंपनियों को भारत में भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोलने के लिए प्रोत्साहित किया।

2022 तक देश में 70 करोड़ स्मार्टफोन यूजर होंगे- तरुण पाठक का कहना है कि, 2022 तक देश में 70 करोड़ लोगों के पास स्मार्टफोन होगा और अगले 4-5 साल में 1 अरब से ज्यादा स्मार्टफोन बिकने की उम्मीद है।

एक अनुमान के मुताबिक, 2019 की शुरुआती तीन तिमाही (जनवरी से सितंबर) तक देश में 11.5 करोड़ स्मार्टफोन आए। इनमें श्याओमी, सैमसंग, वीवो, ओप्पो और रियलमी टॉप-5 कंपनियां रहीं।

स्मार्टफोन की औसत कीमत भी 5 हजार बढ़ी- इस साल स्मार्टफोन की एवरेज सेलिंग प्राइस (एएसपी) में भी बढ़ोतरी हुई है। पहले स्मार्टफोन की औसत कीमत 5 से 10 हजार के बीच रहती थी, जो अब बढ़कर 10 से 15 हजार पहुंच गई है।

इंटरनेशन डाटा कॉर्पोरेशन के मुताबिक, देश में 80% से ज्यादा मार्केट 200 डॉलर (14,200 रुपए) और 300 से 500 डॉलर (21,400 से 35,600 रुपए) की कीमत वाले स्मार्टफोन का है। इस प्राइस सेगमेंट में कई गुना बढ़ोतरी रही। आईडीसी इंडिया की एसोसिएट रिसर्च मैनेजर उपासना जोशी बताती हैं कि, इस सेगमेंट में ग्रोथ की वजह वे लोग हैं जो अपने स्मार्टफोन को अपग्रेड कर रहे हैं।

कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती और सरकार की नीतियां भी फायदेमंद- देश को ‘डिजिटल हब’ बनाने के मकसद से सरकार ने इलेक्ट्रॉनिक्स मैनुफैक्चरिंग के लिए नई नीति बनाई है। साथ ही एफडीआई के नियमों में भी ढील दी है। यही कारण है कि एपल ने भारत में अपना पहला रिटेल स्टोर शुरू करने की घोषणा की है।

इसके अलावा, सितंबर में सरकार ने कॉर्पोरेट टैक्स भी 22% से घटाकर 15% कर दिया। एपल के अलावा आईफोन के लिए चार्जर बनाने वाली कंपनी सालकॉम्प ने भी देश में 2 हजार करोड़ रुपए का निवेश करने का वादा किया है। सालकॉम्प मार्च 2020 तक चेन्नई में प्लांट शुरू करने जा रही है। इससे 10 हजार लोगों को रोजगार भी मिलने की उम्मीद है।

मार्च 2020 तक 5जी फोन आ सकता है- रियलमी इंडिया की मार्च 2020 तक देश में पहला 5जी स्मार्टफोन लाने की योजना है। हालांकि, जानकारों ने  देश में 5जी स्मार्टफोन की खरीदी 2020 के शुरुआती 6 महीने बीतने के बाद बढ़ने की उम्मीद जताई है। शुरुआत में 5जी स्मार्टफोन की कीमत बहुत ज्यादा रहेगी और एक या डेढ़ साल बाद ही 5जी स्मार्टफोन 10 हजार से 25 हजार के प्राइस सेगमेंट में भी मिलने की संभावना है।