कन्या

दैनिक

हाल की घटनाओं से आपका मन बेचैन हो सकता है। शारीरिक और मानसिक लाभ के लिए ध्यान व योग फ़ायदेमंद साबित होंगे। ज़रूरत से ज़्यादा ख़र्च करने और चालाकी-भरी आर्थिक योजनाओं से बचें। अपने दिन की योजना सावधानी से तय करें। ऐसे लोगों से बात करें, जो आपकी मदद कर सकते हैं। आपका प्रिय को आपसे भरोसे और वादे की ज़रूरत है। आज आपके पास अपनी धनार्जन की क्षमता को बढ़ाने के लिए ताक़त और समझ दोनों ही होंगे। दीर्घावधि में कामकाज के सिलसिले में की गयी यात्रा फ़ायदेमंद साबित होगी। आप महसूस करेंगे कि शादीशुदा ज़िन्दगी आपके लिए वाक़ई ख़ुशनसीबी लेकर आई है। उपाय :- आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए चाँदी के बर्तन में दही खाएं।

साप्ताहिक 25 Dec 2017 – 31 Dec 2017

आपकी कम्यूनिकेशन स्किल बढ़िया होगी। परिवार में अशांति का माहौल रह सकता है और इसका असर आपके कार्यक्षेत्र पर पड़ेगा। ध्यान रखें, किसी से भी कड़वा न बोलें। आदमनी में वृद्धि होने की प्रबल संभावना है। भाई-बहन भी आर्थिक रूप से आपकी मदद करेंगे। छोटी दूरी की यात्रा का योग है। कार्यस्थल पर अपना शत् प्रतिशत प्रदर्शन करें। संतान परिवार के प्रति समर्पित रहेगी। छात्रों के सामने कोई समस्या आ सकती है।

वार्षिक

नौकरीपेशा जातक इस अवधि में अपने कौशल के बल पर तरक़्क़ी एवं वेतन वृद्धि प्राप्त करेंगें। कन्या का राशिफल इंगित कर रहा है कि वर्ष 2017 में आपको सफलता मिलने की प्रबल संभावनाएँ हैं। अपने सहकर्मियों के साथ आपके संबंध काफी अच्छे रहेंगे व आपका मनोबल बढ़ेगा। व्यवसाय करने वालों को अपनी व्यावसायिक प्रगति में अवरोधों का सामना करना पड़ सकता है। बिज़नेस में धीमी चाल से प्रगति होगी। आप काफी काम करेंगे किंतु आपको नतीजे अपेक्षा के अनुसार प्राप्त नहीं होंगे। लेकिन आप बिना चिंता के प्रयास करते रहें। आर्थिक स्तर पर आपको सावधान रहना चाहिए। शेयर बाजार एवं सट्टेबाज़ी आधारित गतिविधियों में किस्मत अजमाने का प्रयास न करें अन्यथा आपका धन लंबे समय के लिए फँस सकता है। जल्दबाजी में लिए गए निर्णय आपको मोटी आर्थिक हानि पहुँचा सकते हैं। तेजी से धन कमाने की लालसा में शॉर्टकट अपनाने से बचें। किसी भी बिज़नेस में सोच समझकर ही पार्टनरशिप करना हितकर होगा। वर्ष के मध्य भाग के बाद से हालात आपके पक्ष में होंगे। उससे पूर्व किसी भी कार्य में निवेश करना नुकसानदायक हो सकता है। कारोबार से जुड़े लोगों के विदेश यात्रा के भी योग बने हुए हैं।

            kalash २०१६  kalash

                   decoration
०५ जनवरी (मंगलवार) सफला एकादशी
०६ जनवरी (बुधवार) वैष्णव सफला एकादशी
२० जनवरी (बुधवार) पौष पुत्रदा एकादशी
०४ फरवरी (बृहस्पतिवार) षटतिला एकादशी
१८ फरवरी (बृहस्पतिवार) जया एकादशी
०५ मार्च (शनिवार) विजया एकादशी
१९ मार्च (शनिवार) आमलकी एकादशी
०३ अप्रैल (रविवार) पापमोचिनी एकादशी
०४ अप्रैल (सोमवार) गौण पापमोचिनी एकादशी वैष्णव पापमोचिनी एकादशी
१७ अप्रैल (रविवार) कामदा एकादशी
०३ मई (मंगलवार) बरूथिनी एकादशी
१७ मई (मंगलवार) मोहिनी एकादशी
०१ जून (बुधवार) अपरा एकादशी
१६ जून (बृहस्पतिवार) निर्जला एकादशी
३० जून (बृहस्पतिवार) योगिनी एकादशी
०१ जुलाई (शुक्रवार) गौण योगिनी एकादशी वैष्णव योगिनी एकादशी
१५ जुलाई (शुक्रवार) देवशयनी एकादशी
३० जुलाई (शनिवार) कामिका एकादशी
१४ अगस्त (रविवार) श्रावण पुत्रदा एकादशी
२८ अगस्त (रविवार) अजा एकादशी
१३ सितम्बर (मंगलवार) परिवर्तिनी एकादशी
२६ सितम्बर (सोमवार) इन्दिरा एकादशी
१२ अक्टूबर (बुधवार) पापांकुशा एकादशी
२६ अक्टूबर (बुधवार) रमा एकादशी
१० नवम्बर (बृहस्पतिवार) देवुत्थान एकादशी
११ नवम्बर (शुक्रवार) गौण देवुत्थान एकादशी वैष्णव देवुत्थान एकादशी
२५ नवम्बर (शुक्रवार) उत्पन्ना एकादशी
१० दिसम्बर (शनिवार) मोक्षदा एकादशी
२४ दिसम्बर (शनिवार) सफला एकादशी
                   decoration

कभी कभी एकादशी व्रत लगातार दो दिनों के लिए हो जाता है। जब एकादशी व्रत दो दिन होता है तब स्मार्थ-परिवारजनों को पहले दिन एकादशी व्रत करना चाहिए। दुसरे दिन वाली एकादशी को दूजी एकादशी कहते हैं।