काशी-महाकाल एक्सप्रेस में परोसे जाएंगे इंदौरी पोहा-जलेबी और बनारस कचौरी

इंदौर।महाशिवरात्रि से शुरू हो रही काशी-महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन में यात्रियों को आईआरसीटीसी द्वारा तमाम सुविधाएं दी जाएंगी। हर यात्री का 10 लाख का बीमा भी रहेगा। इंदौर से बनारस के बीच न्यूनतम किराया 2250 रुपए तय किया गया है जिसमें 300 रुपए का कैटरिंग चार्ज भी है। हर बोगी में चाय, काफी की वेडिंग मशीनें रहेंगी। इंदौर का पोहा जलेबी भी ट्रेन में यात्रियों को मिलेगा।

बनारस की कचौरी का लुत्फ भी यात्री उठा सकेंगे आईआरसीटीसी द्वारा लगातार यात्रियों को सुविधाएं दी जा रही है और देश सहित आसपास के देशों के लिए भी धार्मिक यात्राएं कराई जा रही हैं। नेपाल दर्शन यात्रा के लिए 28 फरवरी को जहां ट्रेन चलाई जाएगी। वहीं महाशिवरात्रि से काशी महाकाल एक्सप्रेस ट्रेन चलने जा रही है। यह ट्रेन पूरी तरह से सुरक्षा से लेस रहेगी। अटेंडेंट के पास सीसीटीवी का लाइव मॉनिटर रहेगा और 5 सुरक्षाकर्मी भी तैनात रहेंगे। ट्रेन में कुल 9 बोगियां रहेंगी जो थर्ड एसी होंगी। एक यात्री का किराया 2250 रुपए रहेगा। ट्रेन में सीनियर सिटीजन के लिए 20 बर्थ आरक्षित रहेंगी। इसके अलावा महिलाओं और दिव्यांगजनों के लिए भी बर्थें आरक्षित की गई हैं। आईआरसीटीसी 10 लाख रुपए का रेल ट्रेवल बीमा भी देगा।

काशी विश्वनाथ, बाबा महाकाल के अलावा ओंकारेश्वर और अन्य तीर्थस्थलों के दर्शन किए जा सकेंगे
ट्रेन का रूट बनारस (काशी) इलाहाबाद, लखनऊ, कानपुर होते हुए उज्जैन (महाकाल) पहुंचेगी। यात्रियों को काशी विश्वनाथ मंदिर, गंगा आरती, त्रिवेणी संगम, बड़ा इमामबाड़ा (लखनऊ), औद्योगिक क्षेत्र कानपुर जहां देखने को मिलेगा। वहीं उज्जैन में बाबा महांकाल के दर्शन के साथ अन्य धार्मिक स्थलों को भी देखने का अवसर मिलेगा। इंदौर आने के बाद ओंकारेश्वर, गोम्मटगिरी, खजराना गणेश, मांडव, महेश्वर, राजबाड़ा आदि भी यात्री जा सकेंगे। ट्रेन का सफर कुल 1102 किमी का रहेगा और करीब 15 घंटों में यह सफर पूरा होगा।