किसानों के खातों में CM  शिवराज ने किए 1677 करोड़ रुपए ट्रांसफर

शाजापुर में सोमवार दोपहर सीमए शिवराज सिंह चौहान ने किसान सम्मेलन में किसानों को एक बड़ी सौगात दी है। सीएम ने यहां मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना का शुभारंभ किया और 10.76 लाख किसानों के खाते में 1677 करोड़ रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किए। कार्यक्रम का प्रदेश भर में लाइव प्रसारण किया गया। सीएम के इस कार्यक्रम को प्रदेश भर में लाखों किसानों ने सुना। सीएम ने कहा कि मैं हरपल किसानों के बारे में सोचता हूं, प्रदेश सरकार किसानों की आंखों में आंसू नहीं आने देगी, उन्हें उनकी मेहनत की एक-एक पाई मिलेगी।

 मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना का शुभारंभ करते हुए सीएम ने कहा कि मैंने एक बटन से अपने 10 लाख से ज्यादा किसान भाईयों के खाते में उनकी मेहनत पहुंचाई है। प्रदेश सरकार को किसानों की मेहनत और उनके पसीने की कीमत पता है। उन्हें उनके हक की एक-एक पाई मिलेगी। सरकार किसानों को बिना ब्याज के लोन दे रही है। किसान निश्चिंत होकर उत्पादन करें। सरकार उनकी उपज को सही दाम पर खरीदेगी।

सीएम चौहान ने कहा कि मैं किसान का बेटा हूं। शिवराज जिएगा तो किसानों के लिए और मरेगा तो किसानों के लिए। राजा, नवाबों, अंग्रेजों और कांग्रेस ने मिलकर प्रदेश की सिर्फ 7.5 लाख हेक्टेयर जमीन सिंचित की, जबकि अकेले भाजपा सरकार ने 40 लाख हेक्टेयर भूमि तक पानी पहुंचाया। सरकार ने सिंचाई योजना के जरिए प्रदेश भर में नहरों का जाल बिछा दिया है। अब किसी किसान की फसल पानी की कमी से नहीं सूखेगी। सरकार जहां पर सिंचाई को लेकर कुछ कमी है उन्हें भी जल्दी पूरा करने की तैयारी कर रही है।

प्रदेश सरकार किसानों को धान और गेहूं दोनों में ही प्रोत्साहन राशि दे रही है। कांग्रेस की सरकार में ना बिजली थी और ना ही पानी था। फसल खराब हो जाए तो मुआवजा भी नाममात्र का था। लेकिन हमारी सरकार किसानों को उनके उत्पादन का दोगुना दाम देने के लिए प्रयासरत है। इसके लिए सरकार ने भावांतर जैसी किसान हितैषी योजना लागू की है।

बता दें कि इस योजना के जरिए सीएम ने साल 2016-17 में उपार्जित गेहूं तथा धान की 200 रुपए प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि किसानों के खाते में जमा करवाई है। गाैरतलब है कि इसके पहले सीएम चौहान ने बालाघाट में नेट बैंकिंग के जरिए 70 हजार किसानों के खातों में 57 करोड़ 87 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि ट्रांसफर की थी।

800 रुपए प्रति क्विंटल मिलेगी प्रोत्साहन राशि

सरकार लहसुन पर 800 रुपए प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि देगी। प्रति हेक्टेयर 30 हजार रुपए मुआवजा राशि दी जाएगी।

 मुख्यमंत्री कृषि युवा स्वरोजगार योजना के तहत सरकार किसानाें के बच्चों को पूरा सहयोग करेगी।

  किसान कभी भी सीएम कंट्रोल रूम के नंबर 2540500 पर अपनी समस्याएं दर्ज करवा सकते हैं। सुबह 7 से रात 11 बजे तक किसान यहां कॉल कर सकते है।