कोलकाता के परिवार ने जुड़वा बहनों को लिया गोद

उज्जैन। सेवाभारती मातृछाया की देखरेख में उन्हेल की दो जुड़वा बहनों पूजा एवं देविका (१३ वर्ष) कक्षा आठवीं उत्तीर्ण लालपुर बालिकागृह में रह रही थ्ीा। इन्हें कोलकाता के आईटी सेक्टर में शासकीय उच्च अधिकारी अंजोन गंगोपाध्याय एवं सोमा गंगोपाध्याय दंपत्ति ने दत्तक के रूप में गोद लेने का निर्णय लिया। परिवार तीन दिन पहले बच्चियों से आकर मिला था तथा दोनों बहनों को देख इन्हें गोद लेने के लिए आवेदन दिया। इस पर सेवाभारती मातृछाया के अध्यक्ष रवि सोलंकी, उपाध्यक्ष रितेश सोनी, ओम जैन, सहसचिव डॉ. चिंतामणि राठौर, मातृछाया प्रबंधक अनुराग जैन, रत्नेश जैन, महिला सशक्तिकरण अधिकारी मूंगे मैडम आदि ने परिवार के संबंध में सारी तस्दीक की।

इसके बाद मंगलवार को कोलकाता के इस दंपत्ति को दोनों बच्चियों को गोद देने की प्रक्रिया पूर्ण की गई। ज्ञातव्य है कि वर्ष २०१५ में ११ वर्ष की उम्र में दोनों जुड़वा बहनों को उनकी मां के देहावसान के बाद लालपुर बालिकागृह में स्थानांतरित किया गया था। इस प्रक्रिया के बाद दोनों बहने के चेहरे पर भी प्रसन्नता दिखाई दी। उन्हें माता-पिता के रूप में गंगोपाध्याय दंपत्ति मिल गए हैं तथा उक्त दंपत्ति को भी दोनों बच्चिायां (जुड़वा बहनें) मिल गई हैं। जिसका वे पुत्रियों के समान लालन-पालन करेंगे।