क्या है फिट इंडिया स्कूल ग्रेडिंग सिस्टम, पीएम मोदी ने किया लॉन्च

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में देशभर के स्कूलों में फिट इंडिया स्कूल ग्रेडिंग सिस्टम लॉन्च किया। फिट इंडिया स्कूल ग्रेडिंग सिस्टम में फिटनेस को लेकर स्कूलों की रैकिंग की व्यवस्था भी की गई हैं।

फिट इंडिया स्कूल रैंकिंग तीन श्रेणियों में विभाजित है।

फिट इंडिया स्कूल (प्रथम श्रैणी)

फिट इंडिया स्कूल (थ्री स्टार)

फिट इंडिया स्कूल (फाइव स्टार)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस रैकिंग को हासिल करने वाले सभी स्कूल ‘फिट इंडिया लोगो’ और झंडे का इस्तेमाल भी कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल फिट इंडिया पोर्टल पर जाकर स्कूल स्वयं को फिट घोषित कर सकते हैं। स्कूलों को फिट इंडिया थ्री स्टार रेटिंग और फिट इंडिया फाइव स्टार रेटिंग भी दी जाएगी। रैंकिंग का स्तर इस बात पर निर्भर करेगा कि स्कूल अपने छात्रों और शिक्षकों के बीच फिटनेस को कितना महत्व देते है।

प्रधानमंत्री ने अनुरोध किया कि सभी स्कूल फिट इंडिया रैंकिंग में शामिल हों जिससे फिट इंडिया एक जनांदोलन बने और उससे जागरूकता आए। इसके लिए सबको प्रयास करना चाहिए। फिट इंडिया को लेकर कई प्रकार के आयोजन किए जाएंगे। इसमें क्विज, निबंध, लेख, चित्रकारी, पारंपरिक और स्थानीय खेल, योगासन, नृत्य एवं खेलकूद प्रतियोगिताएं शामिल हैं।

मोदी ने कहा कि फिट इंडिया सप्ताह में विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके शिक्षक और माता-पिता भी भाग ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि फिट इंडिया मतलब सिर्फ दिमागी कसरत, कागजी कसरत, लैपटाप-कम्प्यूटर या मोबाइल फोन पर फिटनेस की एप देखते रहना नहीं है बल्कि पसीना बहाना और खाने की आदतें बदलना है। उन्होंने कहा कि मैं देश के सभी राज्यों के स्कूल, बोर्ड और स्कूलों के प्रबंधन से
अपील करता हूं कि वे दिसम्बर महीने में फिट इंडिया सप्ताह मनाएं और फिटनेस की आदत को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।
मन की बात
मन की बात आकाशवाणी पर प्रसारित किया जाने वाला कार्यक्रम है। जिसके जरिए भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश के सभी नागरिकों को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्तूबर 2014 को किया गया था। नरेंद्र मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को इस कार्यक्रम में देशवासियों को संबोधित करते हैं। नवंबर 2019 के कार्यक्रम में पीएम मोदी ने NCC कैडेट्स के साथ अपनी बातचीत को भी साझा किया। साथ ही अयोध्या फैसले पर जनता के रुख को भी सराहा।