गणपति विसर्जन के दौरान कभी न करें ये 5 गलतियां

अनंत चतुर्दशी पर पूरे धूमधाम से गणपति का विसर्जन किया जाता है. 10 दिनों तक गणपति की पूजा-अर्चना और सेवा की जाती है. इसके बाद विसर्जन समय भक्तों के लिए बहुत भावुक क्षण होता है. बप्पा की विदाई के वक्त मन भारी हो जाता है. विसर्जन के समय कुछ खास बातों का ध्यान रखना पड़ता है वर्ना बप्पा नाराज भी हो सकते हैं.

1.सम्मान के साथ करें विसर्जन
विसर्जन के समय सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात ये है कि गणेश प्रतिमा या उससे संबंधित किसी भी चीज को फेंके नहीं, बल्‍कि सभी सामग्री को पूरे सम्मान के साथ बारी-बारी और धीरे-धीरे से विसर्जित करें.

2. आरती जरूर करें विसर्जन से पहले गणपति की आरती जरूर करें. सेवा के दौरान हुई किसी भी चूक के लिए बप्पा से क्षमा मांगे.

3.चौकी का विशेष
जिस चौकी पर बप्पा को विराजित करना है उसका विशेष ध्यान रखना चाहिए. चौकी को गंगाजल से साफ कर उस पर स्वास्तिक बनाएं.

4.विसर्जन के दौरान शांति का रखें ध्यान
गणेश विर्सजन में शामिल होने जा रहे हैं तो किसी भी तरह के नशे का सेवन ना करें. विसर्जन के दौरान मन शांत रखें और कोई भी उल्टी- सीधी हरकर न करें वरना बप्पा नाराज हो सकते हैं. ध्यान रखें पूजा अर्चना का मकसद आत्मशुद्धि भी है.

5.काले रंग के कपड़ों को न पहने
पूजा-पाठ के शुभ मौके पर काले रंग के कपड़े पहनने से बचें. विसर्जन से पहले खुद को गणपति की चरणों में समर्पित कर दें. भजन कीर्तन गाते हुए बप्पा को विदाई दें.