गरबे देर तक हो सकते हैं लेकिन लाउड स्पीकर रात 10 बजे तक बजेंगे- कलेक्टर

इंदौर। आचार संहिता के साए में मां शक्ति की भक्ति का पर्व शारदीय नवरात्र आज (१०) अक्टूबर से शुरू होगा। आचार संहिता के तहत जिला प्रशासन ने रात दस बजे के बाद लाउड स्पीकर और अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है।साथ ही इन आयोजनों की मंजूरी देने से पहले आयोजक से लिखित में मांगा जा रहा है कि वह रात १० बजे के बाद इनका उपयोग नहीं करेंगे।भाजपा प्रवक्ता उमेश शर्मा ने सोमवार दोपहर में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालते हुए कहा कि यदि महाअष्टमी के दिन रात ११.३० बजे तक और महानवमी पर रात १ बजे तक आयोजन की मंजूरी नहीं मिली तो हम खुलेआम आचार संहिता का उल्लंघन करेंगे और प्रशासन द्वारा गिरफ्तार करने पर जेल में नवरात्रि मनाएंगे।

इस मुद्दे के तूल पकडऩे के बाद कलेक्टर निशांत वरवड़े ने स्पष्ट किया कि गरबों पर किसी तरह की रोक नहीं है, केवल रात १० बजे के बाद लाउड स्पीकर के उपयोग पर रोक लगााई गई है। बिना इन यंत्रों के देर रात तक गरबे किए जा सकते हैं।