गाजियाबाद: 5 लोगों की हत्या-आत्महत्या मामले में बड़ा खुलासा

गाजियाबादसे मंगलवार सुबह आई पांच लोगों की हत्या-आत्महत्या की घटना ने सभी को चौंका दिया था. वैभव खंड स्थित फ्लैट की दीवारों पर एक सुसाइडमुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखने वाली संजना का शादी से पहले नाम गुलशन था.

संजना के भाई फिरोज ने पुलिस को बताया कि डेढ़ साल पहले उसकी बहन गुलशन ने जीन्स कारोबारी गुलशन वासुदेव से शादी कर ली और अपना नाम बदलकर संजना रख लिया. फिरोज ने बताया कि शादी करने के बाद वह परिवार के साथ रहने लगी हालांकि पहले से ही शादीशुदा और दो बच्चों के पिता गुलशन वासुदेव के परिवार को दोनों की शादी के बारे में जानकारी नहीं थी. इस मामले में पुलिस ने 302 ओर 306 के तहत केस दर्ज किया है. पुलिस अभी भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है. बुधवार दोपहर तक रिपोर्ट आने की संभावना है जिसके बाद और भी खुलासे हो सकते हैं.

क्या है पूरा मामला- 

गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके के वैभव खंड से मंगलवार (3 दिसंबर) सुबह एक अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से तीन लोगों ने छलांग लगा दी. छलांग लगाने वालों में एक पति और उसकी दो पत्नियां शामिल थीं. इनमें से पति और एक पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरी पत्नी को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. उधर, फ्लैट के भीतर दो बच्चों और एक खरगोश की लाश भी मिली थी

इसके साथ ही घर की दीवारों पर सुसाइड नोट लिखा था जिसपर हत्या-आत्महत्या का आरोप राकेश वर्मा पर लगाया गया. इसके अलावा कुछ बाउंस चेक और नोट भी दीवार पर चिपकाए गए थे. फ्लैट से सल्फास की गोलियां भी मिली थीं. इस पूरी घटना ने इलाके में सनसनी फैला दी.

नोट लिखा मिला जसमें आर्थिक तंगी के साथ-साथ राकेश वर्मा को हत्या-आत्महत्या के पीछे का कारण बताया गया था. जिसके बाद मामले की छानबीन के लिए गाजियाबाद पुलिस ने तीन टीमें बनाईं और बुधवार (4 दिसंबर) को राकेश वर्मा को गाजियाबाद के मोहन नगर से गिरफ्तार कर लिया.

उधर, इस पूरे मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से छलांग लगाने वालों में दो महिलाएं और गुलशन वासुदेव नाम का एक पुरुष था. बताया गया कि दोनों महिलाएं गुलशन की पत्नी थीं. बाद में पता चला कि दूसरी महिला संजना गुलशन की मैनेजर थी. गुलशन जीन्स कारोबार करता था जिसे संजना देखती थी. हालांकि पुलिस ने जब संजना के परिवार वालों से बात की तो मामला कुछ और ही सामने आया.