‘गोल्डन शनिवार’भारत ने 1 दिन में जीते 8 गोल्ड,कुल मेडल हुए 53

21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के 10वें दिन भारत के लिए गोल्ड मेडल की बरसात हुई. विनेश फोगाट और मनिका बत्रा के बाद विकास कृष्णन ने भारत को दिन का आठवां गोल्ड दिलाया. उनसे पहले टेबल टेनिस में मनिका बत्रा ने भारत काे दिन का सातवां गोल्ड दिला दिया. इस कॉमनवेल्थ गेम्स में इतने गोल्ड मेडल एक दिन में भारत को कभी नहीं मिले. मनिका ने फाइनल मुकाबले में सिंगापुर की खिलाड़ी सीधे गेम्स में 4-0 से हरा दिया. इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के अब तक 24 गोल्ड हो गए हैं.

विकास कृष्ण ने मुक्केबाजी स्पर्धा के 75 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया. विकास ने फाइनल मुकाबले में कैमरून के दियूदोन विल्फ्रे सेयी को 5-0 से हराया. विकास ने शनिवार को भारत को दिन का 8वां स्वर्ण दिलाया. मुक्केबाजी में इससे पहले एमसी मैरीकोम और गौरव सोलंकी ने स्वर्ण जीता था.

उनसे पहले विनेश फोगाट ने स्वर्ण जीता. हालांकि उनकी बहन बबीता फोगाट इन खेलों में गोल्ड नहीं जीत पाई थीं, लेकिन विनेश ने उनकी इस कमी को पूरा कर दिया.विनेश फोगाट ने 10वें दिन महिलाओं की फ्री स्टाइल कुश्ती की 50 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. विनेश ने कनाडा की जेसिका मैक्डोनाल्ड को 13-3 से मात देते हुए स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया

विनेश ने आते ही जेसिका को कब्जे में लिया और पटखनी देते हुए चार अंक हासिल किए. उन्होंने अगले दांव में भी चार अंक लिए. इस बीच जेसिका ने भी दो तीन अंक लिए, लेकिन विनेश ने अपने अंकों के अंतर को बनाए रखा और अंतर को 10 तक पहुंचा दिया.

इस बीच जेसिका के कोच ने चैंलेज किया और विनेश की 10 अंकों की बढ़त को कम कर दिया. हालांकि दूसरे राउंड में विनेश ने अंकों के अंतर को एक बार फिर 10 तक पहुंचा दिया और यहीं रेफरी ने विनेश को तकनीकी तौर पर विजेता घोषित कर दिया.

इससे पहले भारत के लिए शनिवार को मैरी कॉम, संजीव राजपूत, सुमित मलिक, गौरव सोलंकी ने देश को गोल्ड मेडल दिलाए. इसके अलावा गौरव चोपड़ा ने भारत को पहली बार जेवलिन थ्रो में गोल्ड दिलाया था. इसके बाद विनेश फोगाट ने दिन का छठा गोल्ड दिलाया.

कुश्ती में भारत को अब तक खिलाड़ियों ने 5 गोल्ड मेडल दिलाए हैं. सबसे ज्यादा गोल्ड की बात की जाए तो इस बार भारत को सबसे ज्यादा गोल्ड निशानेबाजी में मिले हैं. निशानेबाजी में 7 गोल्ड भारत ने जीते हैं.