चैत्र नवरात्रि 2018: जानिए इस नवरात्रि क्या खाये व्रत में

चैत्र नवरात्रि का आरम्भ 18 मार्च से हो रहा है और इसी के साथ हिन्दू नववर्ष की भी शुरुआत होगी। नवरात्रि पर मां दुर्गा के नौ स्वरुपों की पूजा की जाती है। इस दौरान लोग साफ-सफाई और खान-पान की चीजों का विशेष ध्यान रखते हैं। इन नौ दिनों तक लोग सादा आहार ग्रहण करते हैं। कुछ लोग नवरात्रि के पूरे नौ दिनों तक व्रत रखते है। ऐसे मे इन नौ दिनों में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं आइए जानते हैं।

 कुट्टू का आटा– कुट्टू के आटे को नवरात्रि के व्रत के दौरान सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसके आटे का हलावा, पूरी और खिचड़ी बनाकर खाया जाता है। कुट्टू के आटे से    बनी चीजें खाने से भूख कम लगती है।

सिंघारे का आटा- व्रत में सिंघारे के आटे की पूरियां और हलवा बना कर खाया जाता है। सिंघारे के आटे को व्रत में बहुत शुभ माना जाता है।
आलू और टमाटर- वैसे तो आलू हर एक व्रत में खाया जाता है लेकिन नवरात्रि पर आलू से बनी चीजें ज्यादा पसंद किया जाता है। इसमें बिना नमक के आलू की सब्जी बनकर खाते हैं।
शकरकंद- आलू के अलावा शकरकंद भी व्रत में बहुत खाया जाता है। नवरात्रि के उपवास में साबूदाने से बना व्यंजन दही के साथ खाया जा सकता है। कुट्टू के आटे से बनी पूरी और आलू की सब्जी दही के साथ ले सकते हैं।
ड्राई फूट और मखाना- नवरात्रि में ड्राई फूट से बनी चीजें बहुत पसंद की जाती है। व्रत में मूंगफली और मखाना को तलकर खाया जाता है।

नवरात्रि पर केवल फलाहार ही खाया जाता है। नवरात्रि पर नमक और प्याज लहसुन से बनी चीजें नहीं खानी चाहिए। भूलकर भी इस दौरान मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए।