जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी किए ढेर

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के तिकेन गावं में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच शनिवार सुबह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। मारे गए आतंकियों की पहचान हो गई है। मारे गए दोनों आतंकी पुलवामा के ही रहने वाले हैं।
पुलिस ने बताया कि मारे गए आतंकियों की पहचान बिलाल अहमद पुत्र लिकायत अहमद, निवासी बेलो और वाजिद अल इस्लाम, पुत्र मुजफ्फर वानी, निवासी बभारा, पुलवामा के रूप में हुई है।आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना पर सीआरपीएफ की बटालियन 182,183, एसओजी पुलवामा और 55 राष्ट्रीय राइफल्स ने संयुक्त रूप से शनिवार सुबह करीब 7.40 बजे सर्च अभियान चलाया। सर्च अभियान के दौरान 2 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने घेर लिया। आतंकियों ने खुद को घिरता देख फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान दोनों आतंकी को मार गिराया।

मारे गए दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। साथ ही इनके पास से एक इंसास राइफल्स, एक 7.62 मिमी असाल्ट राइफल और गोला-बारूद बरामद किया गया है। आपरेशन खत्म हो गया है और सुरक्षाबलों के जवान वापस लौट गए हैं। हालांकि मारे गए आतंकी किस संगठन से जुड़े थे इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

पुलिस ने स्थानीय लोगों से मुठभेड़ वाले इलाके में नहीं जाने का अनुरोध किया है। पुलिस का कहना है कि, मुठभेड़ वाले इलाके में विस्फोटक सामाग्री हो सकती है, जो लोगों के लिए खतरनाक साबित होगा। इसलिए लोगों से अनुरोध है कि जब तक क्षेत्र से विस्फोटक सामाग्री को पूरी तरह से साफ नहीं कर लिया जाता है, नागरिक पुलिस को सहयोग करें और उस इलाके की तरफ न जाएं।

बता दें कि, दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल में शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने जैश के पाकिस्तानी आतंकी को मार गिराया था। इसमें एसओजी का एक जवान घायल भी हुआ था। शुक्रवार सुबह सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, 180 बटालियन सीआरपीएफ और एसओजी त्राल द्वारा डार गनईगुंड इलाके की घेराबंदी की गई। साथ ही घर-घर की तलाशी शुरू की गई। इलाके में घेरा सख्त होता देख एक मकान में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी थी।

जवाबी कार्रवाई से मुठभेड़ शुरू हो गई। गोलीबारी से जिस मकान में आतंकी छिपे थे उसमें आग लग गई। आग लगते ही आतंकी भागकर पास के इलाके में छिप गए। वहां से वे लगातार सुरक्षा बलों पर फायरिंग करते रहे। कुछ देर बाद सुरक्षाबलों को एक आतंकी को मार गिराने में सफलता हाथ लगी। मुठभेड़ में एसओजी का जवान जैल सिंह घायल हो गया। उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।