जया पर विवादित टिप्पणी के बाद बुरे फंसे आजम, महिला आयोग की नोटिस, थाने में केस दर्ज

रामपुरः लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) के प्रचार के दौरान समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान द्वारा बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा के खिलाफ की गई विवादित टिप्पणी को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है. आजम के खिलाफ रामपुर के शाहाबाद थाने में ये एफआईआर दर्ज की गई है. ऐसा बताया जा रहा है कि शाहाबाद मजिस्ट्रेट महेश कुमार गुप्ता की शिकायत पर यह एफआईआर दर्ज की गई है.

आजम के बयान पर बीजेपी की वरिष्ठ नेता और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मुलायम सिंह का नाम लेकर ट्वीट किया है. सुषमा ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मुलायम भाई – आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के. आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं. आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती मत करिये. @yadavakhilesh Smt.Jaya Bhaduri, Mrs.Dimple Yadav.’

बता दें कि रविवार (14 अप्रैल) को रामपुर के शाहाबाद इलाके में ही एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए आजम खान ने बिना नाम लिए बीजेपी उम्मीदवार जया प्रदा पर निशाना साधते हुए कहा था कि जिसको हम अंगुली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिनसे अपना प्रतिनिधित्व कराया.

उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गए. मैं 17 दिनों में पहचान गया था कि इनके नीचे का अंडरवियर खाकी रंग का है. इस रैली में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद थे. उनके इस बयान पर बीजेपी ने सख्‍त ऐतराज जताते हुए माफी की मांग की है.

आजम ने बयान पर नहीं मांगी माफी

रामपुर से समाजवादी पार्टी के प्रत्‍याशी आजम खान ने रविवार को बीजेपी प्रत्‍याशी जया प्रदा पर दिए अपने विवादित बयान पर फिर प्रतिक्रिया दी है. अब उन्‍होंने कहा है, ‘मैं नौ बार रामपुर से विधायक रहा हूं. मंत्री भी रहा. मुझे पता है कि क्‍या बोलना है. अगर कोई यह साबित कर दे कि मैंने अपने बयान में किसी का नाम लिया या किसी का अपमान किया तो मैं चुनाव से अपने कदम पीछे खींच लूंगा.’

क्या अखिलेश के अंदर भी संस्कार खत्म हो गए हैः जया प्रदा

आजम खान के विवादित बयान पर जया प्रदा ने पलटवार करते हुए कहा कि उन्‍होंने मुझे गाली दी, मैं उस जुबान को बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं. बेटियों के जुल्म के खिलाफ लोगों को लड़ना होगा. एक वोट भी आजम खान को नहीं जाना चाहिए.

अखिलेश यादव के लिए जया बोली उनका दिमाग जलील बातें करने लगा है. जया प्रदा ने कहा कि अखिलेश तुम्हारे अंदर भी संस्कार खत्म हो गए हैं, जिस नेता के साथ तुम रहते-रहते जिस संगत में रहते हो, तुम्हारा भी वही दिमाग जलील बातें करने लगा है.

जया प्रदा ने लोगों से कहा कि मेरी तकलीफ को सुनिए. लोगों को मुझसे दुश्मनी क्यों हैं, ये मुझे पता नहीं है. उन्‍होंने शाहाबाद की तकरीर में मुझे बहुत गाली दी है. एक औरत होकर मैं वो बातें नहीं कर पा रही हूं. आपको वीडियो देखना होगा. भाई होने पर लानत है. आपके घर में बहन है आपके घर में बहू है. आपके घर में मां है. आपकी बहन और बेटी को वह गाली देते रहेंगे तो क्या आप चुप रहेंगे.

उन्‍होंने कहा कि ऐसी गंदी जुबान, मेरी मां ने मुझे संस्कार दिया इसलिए मैं उस जुबान को बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं. ये सीमा पार कर दिया है. अगर मुझे बहन समझते हैं, मुझे बेटी समझते हैं तो मैं आपसे अपील करती हूं कि बेटियों के जुल्म के खिलाफ आपको लड़ना होगा.