जिला चिकित्सालय में सशस्त्र पुलिस बल तैनात

अस्पताल के अंदर बनी चौकी का स्थान बदलेगा, दो पुलिसकर्मियों को भी हटाया

जिला चिकित्सालय में कुत्ते के काटने से घायल युवक का उपचार कराने पहुंचे युवकों ने 12 फरवरी की देर रात डॉक्टर, होमगार्ड जवान और अन्य लोगों पर कट्टा अड़ाकर जान से मारने की धमकी देने के साथ हंगामा किया था।

कोतवाली पुलिस ने तीनों युवकों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया, जबकि एसपी द्वारा जिला चिकित्सालय में सशस्त्र पुलिसकर्मियों की तैनाती के साथ चौकी पर ड्यूटी करने वाले दो पुलिसकर्मियों को भी यहां से हटा दिया। अब पुलिस चौकी पुराने प्रवेश द्वार के पास बने कमरे में संचालित होगी।

अब यहां संचालित होगी चौकी
जिला चिकित्सालय के पुराने प्रवेश द्वार के पास 1997 में निर्मित की गई पुलिस चौकी में अब पुलिस चौकी संचालित होगी।

इसके पहले भी पुलिस चौकी यहीं संचालित होती थी, लेकिन बारिश में पानी भरने और जगह की कमी के कारण चौकी को अस्पताल के अंदर पर्ची काउंटर के सामने संचालित किया जा रहा था।

यहां ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मी रात के समय दरवाजा बंद कर सो जाते थे और उस दौरान बदमाश वारदातों को अंजाम देकर भाग जाते थे। इसी के चलते पुलिस चौकी को पुन: पुरानी चौकी में संचालित करने का निर्णय लिया गया।

12 फरवरी की रात करीब 1.35 बजे पप्पू उर्फ मुन्नी उर्फ सचिन पिता राकेश राव वाडकर 23 वर्ष निवासी इंदौरगेट को कुत्ते के काटने पर उपचार कराने उसके दोस्त रवि पिता राजेन्द्र बाली निवासी आर्य समाज मार्ग, कपिल निवासी शांति नगर जिला चिकित्सालय पहुंचे थे।

यहां कुत्ते के काटने पर रैबीज का इंजेक्शन लगाने की बात को लेकर उक्त युवकों का ड्यूटी डॉक्टर विक्रम रघुवंशी से विवाद किया जिसके बाद तीनों युवकों ने कट्टा निकालकर डॉक्टर, होमगार्ड जवान सुरेश सिंह सहित अन्य स्टाफ को बंधक बना लिया था और बाद में लोगों को जान से मारने की धमकी देते हुए बदमाश यहां से भाग गये।

पूरी घटना अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई। पुलिसकर्मियों की लापरवाही के चलते एसपी द्वारा कोतवाली थाने के एसआई को निलंबित करने के साथ ही जिला चिकित्सालय चौकी पर ड्यूटी करने वाले आरक्षक हेमंत और छोटेलाल को भी चौकी से हटाकर दूसरे पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

एसपी द्वारा जिला चिकित्सालय के डॉक्टरों व स्टाफ की सुरक्षा के लिये सशस्त्र चार पुलिस जवानों को भी तैनात किया गया जो अस्पताल के अलग-अलग वार्डों में ड्यूटी कर रहे हैं।

एक पकड़ाया, दो फरार
कोतवाली पुलिस ने मामले में डॉ. विक्रम रघुवंशी और होमगार्ड जवान सुरेश सिंह पिता माटूल निवासी आरडी गार्डी मेडिकल की रिपोर्ट पर तीनों बदमाशों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करते हुए पप्पू उर्फ मुन्नी उर्फ सचिन पिता राकेश राव वाडकर निवासी इंदौरगेट को हिरासत में लिया है जबकि दो बदमाशों की तलाश जारी है।