जीवन में सफल होने के लिए नकारात्मकता को नजरअंदाज करें

एक बार मिनी नाम की एक छोटी बच्ची थी। मिनी थोड़ी शर्मीली होने के कारण ज्यादा लोगों से बात नहीं करती थी। उसका एक सपना था कि वह बड़े होकर एक अच्छी फुटबॉल प्लेयर बने। इस सपने की वजह से उसकी क्लास के बच्चे उसका मजाक बनाते थे। हालांकि, इन सब चीजों के बावजूद वह फुटबॉल खिलाड़ी बनकर सबको गलत साबित करना चाहती थी।मिनी स्कूल से घर जाने के बाद जल्दी से अपना होमवर्क खत्म करके रात को फुटबॉल का अभ्यास करती थी। उसकी लगन और सपने को देखते हुए उसकी मां ने बगीचे में लाइटें लगवा दी।

ताकि मिनी को रात को अभ्यास करने में कोई समस्या नहीं आए।कुछ दिनों बाद इंटर स्कूल फुटबॉल प्रतियोगिता का ऐलान हुआ और मिनी ने इसमें हिस्सा लेने का मन बनाया। प्रतियोगिता भर्ती प्रक्रिया में मिनी ने अद्भुत खेल दिखाकर सभी को चौंका दिया। मिनी का खेल देखकर भर्ती प्रक्रिया के जज और उसके सहपाठी सभी हैरान रह गए। मिनी को इंटर स्कूल फुटबॉल प्रतियोगिता के लिए स्कूल की टीम में शामिल कर लिया गया।

किसी सपने को देखकर उसे पूरा किये बिना रुकना नहीं चाहिए। चाहे लोग आपका कितना भी उपहास क्यों ना करें।