टीम इंडिया ने देश को दिया दिवाली का तोहफा, मैच के साथ टी20 सीरीज भी जीती

 वेस्टइंडीज के खिलाफ मंगलवार को टीम इंडिया ने दूसरे टी20 में धमाकेदार जीत दर्ज की. कप्तान रोहित शर्मा ने दीवाली से पहले चौके और छक्कों से धूमधड़ाका मचाते हुए  नाबाद शतकीय पारी खेली जिससे टीम इंडिया ने दूसरे ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में वेस्टइंडीज को 71 रन से करारी शिकस्त देकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बनाई.

रोहित ने नवनिर्मित अटल बिहारी वाजपेयी स्टेडियम में आठ चौके और सात छक्के जड़कर 50 हजार दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया. उन्होंने दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाया और 61 गेंदों पर नाबाद 111 रन की जबर्दस्त पारी खेली. रोहित ने इस बीच शिखर धवन (41 गेंदों पर 43 रन) के साथ पहले विकेट के लिये 123 रन जोड़े जबकि केएल राहुल (14 गेंदों पर नाबाद 26 रन) के साथ तीसरे विकेट के लिये केवल 28 गेंदों पर 62 रन की अटूट साझेदारी की. इससे भारत दो विकेट पर 195 रन का बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफल रहा.

124 रन बनाते बनाते गिरे 9 विकेट
इसके जवाब में वेस्टइंडीज की टीम नौ विकेट पर 124 रन ही बना पाई. कोलकाता में पहला मैच पांच विकेट से जीतने वाली भारतीय टीम ने इस तरह से टेस्ट और वनडे के बाद टी20 सीरीज भी अपने नाम की. तीसरा और अंतिम टी20 मैच 11 नवंबर को चेन्नई में खेला जाएगा.

शुरू में ही लगा वेस्टइंडीज को झटका
वेस्टइंडीज बड़े लक्ष्य के सामने शुरू में ही लड़खड़ा गया. बायें हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद (30 रन देकर दो) ने शाई होप (छह) को बोल्ड करने के बाद विस्फोटक बल्लेबाज शिमरोन हेटमेयर (15) को दबाव में लांग आन पर आसान कैच देने के लिये मजबूर किया. कैरेबियाई टीम पावरप्ले तक दो विकेट पर 39 रन बनाकर संघर्ष कर रही थी.

भारत के चार गेंदबाजों ने लिए दो-दो विकेट
कोलकाता में कहर बरपाने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव (32 रन देकर दो) ने आठवें ओवर में गेंद थामी और चार गेंद के अंदर डेरेन ब्रावो (23) और निकोलस पूरण (चार) को आउट करके अपने स्थानीय प्रशंसकों को जश्न मनाने का पूरा मौका दिया. रोहित का तीन कैच में से यह पहला कैच था. जसप्रीत बुमराह (20 रन देकर दो) ने अपने तीखे तेवरों के लिये मशहूर कीरेन पोलार्ड (पांच) को अपनी गेंद पर कैच करके वेस्टइंडीज की रही सही उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया. दिनेश रामदीन (10) और फैबियन एलेन (शून्य) के लगातार गेंदों पर आउट होने से भारत की बड़ी जीत सुनिश्चित हो गयी. कीमो पॉल (20) और कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट (नाबाद 15) हार का अंतर ही कम कर पाये. भुवनेश्वर कुमार ने चार ओवर में 12 रन देकर दो विकेट लिये.

धीमी शुरुआत थी टीम इंडिया की
इससे पहले रोहित ने शुरू में सतर्कता बरती लेकिन जल्द ही अपने असली तेवर दिखाने शुरू कर दिये. धवन ने कप्तान के साथ पूरी लय दिखायी और पहले दस ओवर में स्कोर 83 रन पर पहुंचा दिया. यह स्कोर तब बना जबकि ओशेन थामस ने पहला ओवर मेडन किया और पहले चार ओवर के बाद स्कोर 20 रन था. रोहित ने थामस को ही निशाना बनाया जो लगातार 145 किमी रफ्तार से गेंद कर रहे थे. जब वह पारी का तीसरा ओवर करने के लिये आये तो रोहित ने उनकी 149 किमी की रफ्तार वाली गेंद को छक्के के लिये भेजा जबकि धवन ने इसी ओवर में दो चौके जड़े. थामस के इस ओवर में 17 रन बने.

और बन गया रोहित का यह रिकॉर्ड 
इस छक्के से रोहित भारत की तरफ से टी20 अंतरराष्ट्रीय में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने नियमित कप्तान विराट कोहली (2102) को पीछे छोड़ा. जब वह 24 रन पर थे तब खारी पियर ने उनका कैच छोड़ा.

धवन ने भी 20वां रन बनाते ही इस प्रारूप में 1000 रन पूरे किे. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले छठे भारतीय बल्लेबाज हैं. धवन को भी 28 रन के निजी योग पर कीमो पॉल ने जीवनदान दिया. रोहित ने जल्द ही इस प्रारूप में 19वीं बार 50 से अधिक का स्कोर बनाया जो कि भारतीय रिकार्ड है. कोहली 18 बार ऐसा कारनामा कर चुके हैं.

रोहित अपने पूरे रंग में थे और भाग्य भी उनके साथ था. बायें हाथ के स्पिनर फेबियन एलेन पर लगातार दो छक्के जड़ने के बाद रोहित को फिर जीवनदान मिला. इस बार गेंदबाज ने ही उनका मुश्किल कैच छोड़ा. इसी ओवर में हालांकि पूरण ने धवन का कैच लेने में गलती नहीं की जिन्होंने अपनी पारी में तीन चौके लगाए.

रोहित का लगा शतक
ऋषभ पंत (पांच) को ऊपरी क्रम में भेजा गया लेकिन वह फिर से नाकाम रहे और मिडविकेट पर आसान कैच देकर पवेलियन लौटे, लेकिन राहुल ने रोहित का अच्छा साथ देकर डेथ ओवरों में भी रन वर्षा जारी रखी. रोहित ने पारी के आखिरी ओवर में विरोधी कप्तान ब्रेथवेट पर लगातार तीन चौके और एक छक्का लगाया तथा इस बीच दूसरे चौके से इस प्रारूप में अपना चौथा शतक पूरा किया जो कि टी20 अंतरराष्ट्रीय में नया रिकार्ड है.