ट्विंकल डागरे हत्याकांड; आरोपियों ने देखी थी फिल्म दृश्यम, वहीं बनाया ये प्लान

इंदौर. दो साल पहले लापता हुई कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे (22 ) मामले का पुलिस ने शनिवार को खुलासा कर दिया। उसकी हत्या की जा चुकी है। भाजपा नेता और पूर्व महामंत्री जगदीश करोतिया और उनके तीन बेटों ने अपने एक साथी की मदद से पहले हत्या की फिर शव को जला दिया। आरोपियों ने घटना की योजना बनाने के लिए तीन बार दृश्यम फिल्म देखी थी। हत्या की वजह जगदीश करोतिया और ट्विंकल के बीच नाजायज रिश्तों का होना था।

डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि 16 अक्टूबर 2016 को ट्विंकल बाणगंगा स्थित घर से सुबह नाश्ता लेने की बात कहकर निकली थी। फिर वापस नहीं आई। परिजन के आरोपों पर फरवरी 2017 में जगदीश (65) उसके बेटे अजय (36), विजय (38), विनय (31) पर अपहरण का केस दर्ज किया। आरोपियों ने कबूला कि ट्विंकल उनके घर में रहने का दबाव बना रही थी।पुलिस के मुताबिक, ट्विंकल ने पहले जगदीश की पत्नी बनकर रहना चाहा। इसके बाद उसने जगदीश के बेटे अजय से नजदीकियां बढ़ाईं। उससे मंदिर में शादी भी कर ली। ट्विंकल जिद पर अड़ी थी कि करोतिया परिवार में ही रहेगी। उसका दखल बढ़ा तो पिता-पुत्रों ने उसकी हत्या करने की ठान ली।

आरोपियों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए दृश्यम फिल्म से एक आइडिया लिया। उन्होंने पहले एक कुत्ते की हत्या की। पुलिस भी इसमें उलझी, लेकिन बाद में अहमदाबाद में आरोपियों और ट्विंकल के माता-पिता का ब्रेन इलेक्ट्रिकल ऑक्सीलेशन सिग्नेचर टेस्ट करवाया। इससे पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में मदद मिली।

जांच में पता चला की आरोपियों ने ट्विंकल का 16 अक्टूबर को अपहरण किया। फिर पिता जगदीश के साथ कार में टिगरिया बादशाह इलाके में ले गए। वहां साथी नीलू उर्फ नीलेश कश्यप के खेत के पास ले जाकर उसकी हत्या कर दी। अगले दिन कुत्ता बताकर ट्विंकल की लाश को सांवेर रोड स्थित इंडस्ट्रियल एरिया में जला दिया। अवशेष नाले में बहा दिए। पुलिस को शव जलाने वाली जगह पर ट्विंकल की बिछिया, ब्रेसलेट, कपड़े और कुछ अन्य सामान मिला।

जगदीश करोतिया को जब यह पता चला कि किसी अमित नाम के लड़के से ट्विंकल की शादी तय हो चुकी है तो उसने हत्या के बाद ट्विंकल का मोबाइल बेटों को देकर उसे इंदौर में ही चालू किया और फिर बदनावर में जाकर फेंक दिया। इससे पुलिस को आखिरी लोकेशन बदनावर में मिली।