तोपखाना में हालात सामान्य, बाजार खुला

उज्जैन। बुधवार को शोर्य यात्रा निकलने के दौरान तोपखाना क्षेत्र में पनपे तनाव को प्रशासन ने तेजी से नियंत्रित कर लिया। हालांकि रात दो बजे तक जगह जगह गुटों में वर्ग विशेष के लोग हालात पर बातचीत करते रहे और इसी बीच शहर काजी खलीकउर्रहमान भी तोपखाना पहुंचे व लोगों से बातचीत भी की। प्रशासन ने सख्ती से तोपखाना क्षेत्र से संदिग्धों को तितर भितर किया। यही कारण रहा कि हालात तेजी से सामान्य हुए और सुबह तो नित्य की भांति सामान्यत: बाजार खुला। आवागमन में भी कोई रूकावट नहीं थी। क्षेत्रीय पार्षद मुजफ्फर हुसैन व फारूख पहलवान ने भी क्षेत्रीय व्यापारियों को विश्वास दिलाते हुए सामान्य कामकाज में संलग्न रहने को प्रवत्त किया। साथ ही प्रशासन को आश्वस्त किया कि हालात स्थिर बने रहेंगे।

दोनों पक्षों के खिलाफ प्रकरण दर्ज
तोपखाना क्षेत्र से निकल रही शौर्य यात्रा में पत्थरबाजी करने के मामले में महाकाल पुलिस ने दोनों पक्षों की रिपोर्ट पर अज्ञात लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है, जबकि क्षेत्र में हालात सामान्य हैं। बुधवार शाम हिंदू संगठनों द्वारा पशुपति नाथ मंदिर से शौर्य यात्रा निकाली जा रही थी। यात्रा मालीपुरा होते हुए तोपखाना क्षेत्र पहुंची। उसी दौरान डीजे पर लगे विवादित पोस्टर को देखकर यहां के लोग भड़क गये और पत्थरबाजी शुरू कर दी।

हालांकि यात्रा के साथ चल रहे पुलिस लाईन के जवानों ने स्थिति को संभाला और उपद्रवियों को यहां से खदेड़ दिया। पत्थरबाजी में एसएफ आरक्षक नरेन्द्र के अलावा यात्रा में शामिल चिमन, शुभम, दीपक कुमार, अंकित चौबे आदि घायल हुए थे। मामले में अंकित पिता अनिल चौबे निवासी आदिनाथ नगर ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज कराया है वहीं दूसरी ओर अब्दुल मजीद पिता उस्मान गनी निवासी नागौरी मोहल्ला ने भी अज्ञात लोगों के खिलाफ थाने में प्रकरण दर्ज कराया।