दंपत्ति ने जहर खाकर आत्महत्या की

उज्जैन। बीती रात बडऩगर में रहने वाले वृद्ध दंपत्ति ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। पुत्र ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया जहां उपचार के दौरान दोनों की मृत्यु हुई। मृतक दंपत्ति के पुत्र ने बताया कि बहू की मृत्यु के बाद से ही दोनों डिप्रेशन में थे और संभवत: इसी कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली।
रमेशचंद सोलंकी पिता रामचंद (70) निवासी बडऩगर और उनकी पत्नी रमाकांताबाई (60) ने रात को घर में परिवार के साथ भोजन किया और उसके बाद अपने कमरे में सोने चले गये। कुछ देर बाद दोनों उल्टियां कर रहे थे। पुत्र विनोद सोलंकी उन्हें लेकर निजी अस्पताल पहुंचा जहां उपचार के दौरान रमेशचंद सोलंकी और उनकी पत्नी रमाकांताबाई ने दम तोड़ दिया।

पुलिस ने मर्ग कायम कर शवों का पोस्टमार्टम कराया है। पुत्र विनोद सोलंकी ने बताया20 अगस्त 2016 में वह अपनी पत्नी सुनीता के साथ उज्जैन से बडऩगर लौट रहा था उसी दौरान इंगोरिया के आगे बीके यादव की बस ने बाईक को टक्कर मारी थी। दुर्घटना में सुनीता गंभीर घायल हुई और उसका करीब 13 माह तक इलाज भी चला लेकिन बाद में सुनीता ने दम तोड़ दिया। विनोद के दो बच्चे हैं। वृद्ध रमेशचंद व रमाकांता तभी से डिप्रेशन में रहते थे और संभवत: बहू की मौत के गम में दोनों ने जहर खाकर खुदकुशी की।