दवा कारोबारियों ने बंद रखा व्यापार, कलेक्टर कार्यालय में किया प्रदर्शन

इंदौर. ऑनलाइन दवा बिक्री के खिलाफ मंगलवार को दवा विक्रेताओं ने दोपहर एक बजे तक कारोबार बंद रखा। विरोध के चलते शहर की करीब 3200 दुकानें बंद रही। ऑल इंडिया आर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के आह्वान पर यह बंद रखा गया। राष्ट्रव्यापी हल्ला बोल के तहत सुबह 11 बजे कलेक्टोरेट में प्रदर्शन किया गया।

दवा करोबारियों की मुख्य मांग ई-फार्मेसी के अवैध संचालन को बन्द करवाना है। दवा विक्रेताओं का कहना है कि इससे नकली दवा का व्यापार बढ़ेगा। देश में 8.5 लाख खुदरा दवा दुकानों, 50 लाख आश्रितों और कार्यरत लगभग 50 लाख कर्मचारी इससे प्रभावित हो रहे हैं।

2.5 करोड़ लोगों की आजीविका इससे जुड़ी है। इंदौर केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने कहा कि बंद पूरी तरह सफल रहा। ऑनलाइन बिक्री से माफिया का प्रवेश आसान हो जाएगा।