दिल्ली में अनशन पर चंद्रबाबू नायडू, समर्थन देने पहुंचे राहुल गांधी-मनमोहन सिंह

तेलुगू देशम पार्टी (TDP) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने की मांग तेज कर दी है. इसके लिए वह आज वह दिल्ली में आंध्र भवन में एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठे हैं.

लेकिन उनकी इस हड़ताल से पहले ही यहां बड़ा हादसा हो गया है. आंध्र भवन के बाहर एक शख्स ने आत्महत्या कर ली. इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वहां पहुंचकर नायडू को समर्थन दिया.पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह ने भी आंध्र भवन पहुंचकर चंद्रबाबू नायडू को समर्थन किया.

चंद्रबाबू नायडू को समर्थन देने दिल्ली में आंध्र भवन पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाए. उन्होंने यहां भी राफेल का मुद्दा उठाया और कहा कि पीएम मोदी ने आंध्र की जनता का पैसा चुराकर अनिल अंबानी को दे दिया.

इस दौरान उन्होंने कहा कि हम सब एकसाथ खड़े हैं और नरेंद्र मोदी व बीजेपी को हराएंगे. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी जनता से किया गया वादा पूरा करें.

इससे पहले सोमवार सुबह जब नायडू ने भूख हड़ताल शुरू की तो उससे पहले सवेरे एक व्यक्ति ने आंध्र भवन के बाहर आत्महत्या कर ली. यह व्यक्ति नायडू के राज्य आंध्र प्रदेश का ही रहने वाला बताया जा रहा है.

शव के पास मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि उनकी माली हालत काफी खराब है. जानकारी ये है कि यह शख्स आंध्र प्रदेश से ही दिल्ली आया था.

आंध्र को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र के वादों को पूरा करने की मांग को लेकर वह यहां आंध्रा भवन पर एक दिवसीय भूख हड़ताल कर रहे हैं.

उनके साथ पार्टी के तमाम नेता भी मौजूद रहेंगे. भूख हड़ताल से पहले नाडयू ने राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की.

छोड़ दिया था मोदी सरकार का साथ

टीडीपी राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए अन्याय का विरोध करते हुए पिछले साल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नीत NDA से बाहर हो गई थी.

टीडीपी की ओर से जारी बयान ने कहा गया है कि नायडू सोमवार को सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक आंध्र भवन में भूख हड़ताल पर रहेंगे. वह 12 फरवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे.