दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा ‘निःशुल्क दन्त जांच एवं चिकित्सा शिविर’ का आयोजन

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान, अपने सम्पूर्ण स्वास्थ्य प्रकल्प ‘आरोग्य’ के अंतर्गत, सार्वजनिक स्वास्थ्य दंत चिकित्सा विभाग, पोस्ट ग्रेजुएटइंस्टीच्यूटऑफडेन्टल साइंसेस (PGIDS), रोहतक के सहयोग से पंजाबखोड़, कुतुबगढ़ रोड़, दिल्ली में स्तिथ दिव्य धाम आश्रम में दो दिवसीय ‘निःशुल्क दन्त जांच एवं चिकित्सा शिविर’ का आयोजन मई माह में किया गया| शिविर का उद्देश्य ऐसे लोगों तक समय रहते दंत चिकित्सा उपलब्ध कराना है जो गरीब ग्रामीण समुदायओं से हैं और जो अपने दांतों के प्रति न तो जागरूक हैं और न ही उचित उपचार करवाने में सक्षम हैं। ऐसे में उनके लिए दंत चिकित्सा बहुत दुर्लभ हो जाती है। शिविर के आरम्भ में संस्थान के प्रचारक स्वामी तेजोमयानंद जी ने PGIDS की मेडिकल टीम का अभिवादन करते हुए उपस्थित लोगों को संस्थान के विभिन्न आध्यात्मिक एवं सामाजिक प्रकल्पों के बारे में जानकारी दी।

साथ ही PGIDS ,डिपार्टमेन्ट ऑफ़ पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री के प्रमुख (HOD), डॉ मंजूनाथ बी. सी. ने शिविर में आये हुए मरीजों को दांतों से सम्बंधित रोगों की जानकारी देने के साथ उनसे बचाव के प्रति जागरूक किया। उन्होंने कहा कि दिनोंदिन लोगों में दाँतों की समस्याएं बढ़ती जा रही हैं और समय रहते चिकित्सा सुविधा मिलने से ही दांतों की गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। शिविर के दोनों दिन, PGIDS, रोहतक से आये अनुभवी दन्त चिकित्सकों की टीम द्वारा सेवाएं प्रदान की गई, जिसमें शिविर में आये मरीजों को दांतों से संबधित रोगों की जांच, परामर्श, उपचार और दवाइयाँ निःशुल्क प्रदान की गई|

इस दौरान HOD, डॉ मंजूनाथ बी. सी. ने भी मरीजों की जांच की| दिव्य धाम आश्रम के आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से आये लगभग 172 जन समाज ने कैम्प में आकर इन विशेष सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया| दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के सम्पूर्ण स्वास्थ्य प्रकल्प ‘आरोग्य’ ने हरियाणा के गावों में ‘निशुल्क एवं विशिष्ट दन्त चिकित्सा’ प्रदान करने हेतु डिपार्टमेन्ट ऑफ़ पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री, पोस्ट ग्रेजुएटइंस्टीच्यूटऑफडेन्टल साइंसेस (PGIDS), रोहतक, हरियाणा के साथ एक नई शुरुआत की है |

 

इसके अंतर्गत संस्थान के दिव्य धाम आश्रम में हर महीने नियमित दो दन्त चिकित्सा OPD शिविरों का आयोजन कर ग्रमीण लोगों को दन्त चिकित्सा प्रदान की जाएगी | पिछ्ले दो दशक से संस्थान  अपने ‘आरोग्य’ प्रकल्प के तहत देश के विभिन अभावग्रस्त क्षेत्रों में स्वास्थ्य चिकित्साएं प्रदान कर रहा है| नियमित आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविरों का आयोजन कर संस्थान आयुर्वेद चिकित्सा पदति के विस्तार में भी संलग्न है |