नईखेड़ी पेट्रोल पंप पर देर रात डकैती,4 लाख से अधिक लूटे

उज्जैन। गंभीर डेम रोड स्थित नईखेड़ी पेट्रोल पंप पर चार लट्ठ-टामी से लेस होकर आए बदमाशों ने आधी रात में चौकीदार तथा उसके पुत्र को पीटा साथ ही ढाई लाख रुपये नकदी, चौकीदार के परिजनों-महिलाओं के गहने व दुकान-घर में रखी नकदी ले गए।
नईखेड़ी में मुसद्दीपुरा निवासी जीवन जैन का इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप है। उक्त पेट्रोल पंप रात १० बजे बंद हो जाता है। पेट्रोल पंप की चौकीदारी के लिए मोहनलाल पिता बगदीराम बागवान (७०) वर्ष को रखा हुआ है। समीप ही चौकीदार का पक्का कमरा है जहां उसका पुत्र, पुत्रवधु और पोते रहते हैं। चौकीदार व उसकी पत्नी समीप ही बनी चाय-किराना की दुकान संचालित करते हुए वहीं सोते हैं। नित्य की भांति रात एक बजे चौकीदार मोहनलाल उठा और शौच के लिए पेट्रोल पंप के समीप खुले स्थल पर पहुंचा।

वहां आड़ में चार नकाबपोश बदमाश हाथ में लाठी व टामी लिए खड़े थे। चौकीदार कुछ कह पाता उससे पहले ही एक बदमाश ने चौकीदार का मुह दबाया और चुपचाप खड़े रहने को कहा। चौकीदार नहीं माना तो उसे घसीटकर खेत में ले गए तथा लात-घूंसों व लाठी से पीटा। चौकीदार का मुह दबाए एक बदमाश खड़ा रहा और शेष तीन ने टामी से दरवाजा तोड़ पंप केबिन में रखे लगभग ढ़ाई लाख रुपये निकाले।

चौकीदार से खुलवाया घर का दरवाजा
चौकीदार का पुत्र किशोर (३०), पत्नी रेखाबाई, पोत्र हेमंत (१२), कपिल (१०) पंप से सटे कमरे में सो रहे थे। डकैती करने आए बदमाशों ने चौकीदार से आवाज लगाकर पुत्र को दरवाजा खोलने को कहा। जेसे ही पुत्र ने दरवाजा खोला वेसे ही तीनों बदमाशों ने पुत्र किशोर को लात-घूंसों से पीटना शुरू कर दिया तथा कहा कि गहने व नगदी तुरंत उतारों। पुत्र व पुत्रवधू से चार मोती सोने के, तीन जोड़ चांदी के मच्छीजोड़े व घर में रखे पांच हजार रुपये छीने।

दुकान में सो रही चौकीदार की पत्नी के गहने भी उतरवाए
बदमाश लठैतो ने चौकीदार के पुत्र-पुत्रवधु से गहने रुपये छिनने के बाद घर का दरवाजा लगा दिया तथा चौकीदार को लेकर उसकी चाय-किराना दुकान आए। यहां सो रही चौकीदार की पत्नी के कान में पहनी आधा तोला सोने की कान की बुरखी, पेर में पहने आधा किलो वजनी चांदी के अमले व दुकान में रखे चार हजार तथा पेटी में रखे १० हजार रुपये निकलवाए।

एक घंटे तक बेखौफ डकैती
डकैतों ने मारपीट कर पहले चौकीदार को बंधक बना लिया। पंप कैबिन से ताला तोड़ ढ़ाई लाख रुपये निकालने के बाद चारों बदमाश चौकीदार को उसके कमरे में ले गए जहां सो रहे पुत्र, पुत्रवधू को आवाज लगवाई तथा पुत्र को मारपीट कर पुत्रवधू के गहने उतरवाए तथा घर में रखी नगकदी ली। कमरे का दरवाजा बंद कर चौकीदार को उसकी चाय-किराना की दुकान ले गए। वहां चौकीदार की पत्नी भीतर सो रही थी। उसे जगाकर गहने उतारने का कहा फिर दुकान का गल्ला खुलवाया तथा उसमें से चार हजार नकद व ८००-९०० रुपये की चिल्लर ली। इसके बाद पेटी खुलवाई तथा उसमें रखे १० हजार रुपये लिए। पत्नी से आधा किलो चांदी के अमले व आधा तोला सोने की कान की बुरखी उतरवाई। इस पूरे घटना क्रम में रात एक बजे से रात की दो बज गई। पूरे एक घंटे लठैतो ने बेखौफ डकैती की।

गश्त नहीं करती डायल १००
चौकीदार व उसके पुत्र ने बताया कि पुलिस कभी इस रास्ते पर रात में गश्त नहीं करती। यह जानकारी शायद बदमाशों को थी। इसलिए वे बैखोफ होकर मारपीट करते रहें तथा एक घंटे तक क्रमश: पेट्रोल पंप, चौकीदार के कमरे में पुत्र-पुत्रवधु, किराना चाय दुकान में चौकीदार की पत्नी के गहने नगदी डकैती कर ले जाने की घटना को अंजाम दिया।

आधी रात में मालिक व पुलिस दल आया
घटना की जानकारी रात २.१५ बजे पेट्रोल पंप मालिक नवीन जैन को चौकीदार के पुत्र ने दी। इस पर मालिक जैन पुत्र तन्मय जैन भैरवगढ़ पुलिस थाना को फोन पर सूचना देने के बाद पेट्रोल पंप पहुंचे। चौकीदार और पुत्र से घटना की पूरी जानकारी ली तथा पुलिस को बताया कि लगभग ढ़ाई लाख रुपये की सिल्लक पंप कैबिन में रखी थी जिसे डकैत अपने साथ ले गए।