निजी हॉस्पिटल में जांच की सूची हो सार्वजनिक

प्राइवेट अस्पताल, नर्सिंग होम द्वारा की जा रही लूट के विरोध में कांग्रेस ने कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन
उज्जैन। एसएस हॉस्पिटल द्वारा मरीज की मौत के बाद 45 हजार का बिल और परिजनों को थौंप दिये जाने तथा शव परिजनों को नहीं दिये जाने के बाद प्रायवेट अस्पतालों द्वारा इलाज के नाम पर की जा रही लूट एक बार फिर खुलकर सामने आ गई है। ऐसे में प्रायवेट नर्सिंग होम के संचालकों द्वारा की जा रही मनमानी के विरोध में माधवनगर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजीतसिंह ठाकुर के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने सोमवार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन तहसीलदार मीणा को सौंपा गया।
ज्ञापन में ठाकुर ने कहा मरीज के परिजन ब्याज पर पैसा लाकर भी मरीज का इलाज करवाते हैं उसके बाद भी इलाज नहीं मिल पाता। मरीजों के साथ लूटपाट न हो इसके लिए कांग्रेस ने प्रायवेट अस्पतालों पर लगाम लगाने की मांग की। ज्ञापन का वाचन शहर कांग्रेस अध्यक्ष अनंतनारायण मीणा ने कहा शासन द्वारा निर्धारित नर्सिंग होम संचालन हेतु नियमानुसार मरीज के इलाज में उपयोग होने वाली समस्त जांचों की निर्धारित मूल्य सूची बाहर सार्वजनिक रूप से चस्पा की जाए। ज्ञापन सौंपने के दौरान हफीज कुरैशी, विवेक यादव, दीपक मेहरे, पार्षद सुंदरलाल मालवीय, आत्माराम मालवीय, रमेश देवड़ा, मकसूद अली, लोकेश झांझोट, सुरेश वासनिक, मनीष गोमे, राजेश पल्ली, रामनारायण जाटवा, बाबू बेटोड, जगदीश रघुवंशी, संतोष राणा आदि उपस्थित थे।