परीक्षित मोक्ष के साथ हुआ श्रीमद् भागवत कथा का विश्राम

उज्जैन। मित्रनगर में चल रही सप्त दिवसीय श्रीमद भागवत का विश्राम गुरुवार को हुआ। कथावाचक पं. अनिल कुमार व्यास ने कथा के अंतिम दिन परीक्षित मोक्ष का प्रसंग सुनाया।

महाराज परीक्षित को शुकदेव मुनि का आश्रय मिला और गुरु की कृपा से सात दिवस में श्रीमद भागवत कथा का श्रवण कर गोविंद के चरणों को प्राप्त कर लिया। कथा के दौरान चिकित्सा शिविर के आयोजन में सहयोग देने वाले डॉक्टर का व्यासपीठ से हरि भैया ने सम्मान किया। जानकारी आयोजक धीरज मिश्रा ने दी।