पशु पालक के 100 वर्ष पुराने दो मंजिला भवन को किया धराशायी

उज्जैन। पुलिस व नगर निगम द्वारा संयुक्त कार्रवाई करते हुए गुण्डे बदमाशों के अवैध कब्जे और अतिक्रमण तोडऩे के साथ पशु पालकों के बाड़े और अवैध निर्माण तोडऩे की कार्रवाई पिछले दिनों से जारी है। इसी कड़ी में आज सुबह नगर निगम की टीम शीतला माता की गली स्थित मवेशी पालक के 100 वर्ष पुराने दो मंजिला भवन को तोडऩे पहुंची और जेसीबी की मदद से कुछ ही मिनटों में पूरा मकान धराशायी कर दिया।
पशु पालकों को नगर निगम द्वारा पूर्व में ही नोटिस जारी कर पशुओं के बाड़े को हटा लेने के निर्देश जारी किये गये थे लेकिन पशु मालिकों ने नोटिस पर अमल नहीं किया। यही कारण है कि नगर निगम द्वारा अब मुहिम चलाते हुए एक के बाद एक पशुओं के बाड़े सहित पशु मालिकों के अवैध निर्माण भी तोडऩे की कार्रवाई प्रारंभ की गई है।

पिछले तीन दिनों में नगर निगम की टीम ने नीलगंगा जबरन कालोनी, जयसिंहपुरा, पंचमपुरा, बहादुरगंज क्षेत्रों में कार्रवाई की और इसी कड़ी में आज सुबह नगर निगम की अतिक्रमण हटाने वाली गैंग जेसीबी मशीनों के साथ रामघाट मार्ग स्थित शीतला माता की गली पहुंची। यहां पशु पालक यादव द्वारा नगर निगम अधिकारियों को शादी का कार्ड दिखाया और कहा कि घर में कार्यक्रम है उसके बाद बाड़ा व मकान तोडऩे की कार्रवाई कर लेंगे लेकिन अधिकारियों ने मकान मालिक की बात नहीं मानी, अधिकारियों का कहना था कि कलेक्टर और नगर निगम आयुक्त से संपर्क करें उन्हीं के निर्देश पर कार्रवाई की जा रही है।

कुछ ही मिनटों में धराशायी हो गया दो मंजिला भवन
शीतला माता की गली स्थित करीब 100 वर्ष पुराना दो मंजिला भवन जेसीबी की मदद से कुछ ही मिनटों में धराशायी कर दिया गया। कच्चे मकान के गिरने से उड़े धूल के गुबार से पूरा क्षेत्र धूल मिट्टी से भर गया।

गैलरी तोड़कर जेसीबी से उतारी गोदरेज
मकान मालिक को नगर निगम द्वारा पूर्व में ही नोटिस जारी कर दिया गया था। मकान काफी पुराना होने के कारण मालिक द्वारा उसके कागजात भी पेश नहीं किया गये। सुबह टीम के पहुंचने से पहले मकान में कुछ सामान व गोदरेज की अलमारी रखी थी। नगर निगम की टीम ने सामान बाहर निकालने के साथ ही दूसरी मंजिल की गैलरी तोड़कर जेसीबी की मदद से गोदरेज की अलमारी नीचे उतारी।