पूजन के साथ माता की बिदाई, रात को होगा रावण दहन

उज्जैन। नवरात्रि के चलते 9 दिनों तक मां दुर्गा की विभिन्न रूपों में आराधना करने के बाद सुबह पूजन अर्चन के साथ माताजी की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। रात को विभिन्न स्थानों पर रावण दहन का आयोजन शहर में होगा।
सुबह से शिप्रा नदी के विभिन्न घाटों पर लोगों द्वारा प्रतिमा विसर्जन का सिलसिला शुरू हुआ। लोगों ने घाट पर जवारे, प्रतिमाएं रखकर पूजन किया और विधि विधान के साथ विसर्जन किया गया। पुलिस प्रशासन द्वारा त्रिवेणी से मंगलनाथ घाट तक नदी में प्रतिमा विसर्जन पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके लिये पुलिसकर्मियों व नगर निगम कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है। निगम कर्मियों द्वारा प्रतिमा विसर्जन के लिये नदी के घाटों पर आने वाले लोगों से प्रतिमाएं लेकर वाहन में रखी जा रही है। कर्मचारियों का कहना था कि प्रतिमाओं का विसर्जन कालियादेह महल के आगे किया जायेगा।

आज भी शिप्रा नदी में बाढ़
सोमवार को शहर में हल्की बारिश ही दर्ज हुई लेकिन शिप्रा नदी में बाढ़ की स्थिति अब भी बरकरार है। नदी का जलस्तर बढऩे के कारण छोटे पुल से 2 फीट ऊपर पानी बह रहा है और घाट भी डूबे हुए हैं।