पूर्व विधायक डॉ. परूलेकर फिर से कांग्रेस में शामिल

उज्जैन। महिदपुर क्षेत्र की पूर्व विधायक एवं तेजतर्रार नेत्री डॉ. कल्पना परूलेकर को फिर से कांग्रेस में शामिल कर लिया गया है। इस बात की जानकारी पार्टी के वरिष्ठ नेता चंद्रप्रभाष शेखर ने डॉ. परूलेकर को मोबाईल से दी।पूर्व विधायक डॉ. परूलेकर मंदसौर जिले के पिपलिया मंडी में किसानों की मांगों को लेकर आंदोलन कर रही हैं। उनका कहना है कि किसानों की वाजिब मांगों के प्रति यदि म.प्र. की शिवराज सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो इसका खामियाजा आगामी चुनाव में शिवराजसिंह चौहान एवं भाजपा को भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज का वाजिब भाव नहीं मिल रहा है।

मंदसौर जिले में कई ट्रक विगत कुछ दिनों से लहसुन से भरे खड़े हुए हैं लेकिन कम भाव मिलने के कारण किसान उपज नहीं बेच रहे। उन्होंने कहा कि 10 महीने पहले मंदसौर जिले में पुलिस ने किसानों पर आंदोलन के दौरान गोली चलाई जिससे 6 किसानों की मौत हो गई लेकिन गोली चलाने वाले पुलिसकर्मियों पर 302 एवं 307 में प्रकरण दर्ज नहीं किया गया। वहीं शिवराज सिंह सरकार ने मृतक किसानों के परिवारों को एक-एक करोड़ का मुआवजा दिया। आज तक इतना मुआवजा किसी को नहीं दिया है। यह मुआवजा सहानुभूति पूर्वक नहीं बल्की मामले को दबाने के लिये दिया गया है।

मेरा कहना है कि गोलीकांड की जांच होना चाहिये और दोषी अधिकारी एवं पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई होना चाहिये। उन्होंने कहा कि मंदसौर जिले में 70 प्रतिशत अफीम की खेती होती है अब सरकार ने डोडा रखने वाले किसानों पर भी एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज करने की बात कही है जबकि डोडा में नशा नहीं होता है। अत: शासन को इस पर विचार करना चाहिये। उन्होंने कहा कि मंडी टैक्स से बिजली विभाग को राशि दी जा सकती है जिससे किसानों पर भार नहीं पड़ेगा।

बावरिया और कमलनाथ से हुई थी चर्चा
पूर्व विधायक डॉ. परूलेकर ने अक्षरविश्व से चर्चा करते हुए कहा कि कुछ दिनों पहले अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से चर्चा हुई थी। इसके बाद उन्हें कांग्रेस में शामिल होने की सूचना वरिष्ठ नेता चंद्रप्रभाष शेखर द्वारा दी गई है जिस पर उन्होंने सहमति दे दी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब कांग्रेस की सरकार बनाना पहला लक्ष्य है। यह पूछे जाने पर कि क्या वह महिदपुर से विधानसभा का चुनाव लड़ेंगी तो उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ एवं अन्य वरिष्ठ नेताओं को लगता है कि वह महिदपुर से चुनाव जीत सकती हैं तो पार्टी उन्हें टिकिट देगी। उन्होंने कहा कि पार्टी जो भी निर्णय लेगी वह उन्हें स्वीकार है।