प्रशासन चिंता में, नाराज किसान कहीं रंग में भंग न घोल दें

उज्जैन। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 21 अप्रैल को उज्जैन आ रहे हैं। वे यहां केन्द्रीय सामाजिक अधिकारिता मंत्रालय के एम्लीको संयंत्र स्थापना भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके अलावा विभिन्न कार्ययोजनाओं का शुभारंभ भी करेंगे।
मुख्यमंत्री का आगमन प्रशासन के लिये चिंता इसलिये बढ़ा रहा है कि इन दिनों किसान नाराज है और चाहे भावांतर योजना में किसानों का पंजीयन और फसल विक्रय में मुश्किल आई हो या फिर चना खरीदी मामले में पंजीयन, एसएमएस न मिलने आदि से किसानों की नाराजगी बढ़ी हो। अंदर के सूत्र बताते हैं कि किसानों को कांग्रेस आगे कर मुख्यमंत्री का विरोध कराने की तैयारी में है। प्रशासन चाहता है कि मुख्यमंत्री के आगमन पर किसानों का प्रदर्शन न हो।

हालांकि भाजपा किसान मोर्चा ने सोमवार को ही मुख्यमंत्री किसान कल्याण कार्यक्रम के तहत कृषि उपज मण्डी में 250-300 किसानों के बीच मुख्यमंत्री के शाजापुर के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखवाया है। फिर भी किसानों के संबंध में प्रशासन को नाराजगी भरी रिपोर्ट मिल रही है। सत्ताधारी भाजपा भी नहीं चाहती कि मुख्यमंत्री के आगमन पर कोई ऐसा विरोध प्रदर्शन हो और बवाल मचे।