प्रेमिका की हत्या कर बन गया था साधु, 5 साल बाद भागवत कथा करते पकड़ाया

मध्य प्रदेश के छतरपुर में पुलिस ने एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है जिसने पांच साल पहले लिव इन में रह रही अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या कर दी थी और उसके बाद फरार हो गया था. पुलिस के मुताबिक आरोपी सुशील दुबे करीब पांच साल पहले अपनी गर्लफ्रेंड के साथ भिलाई नगर में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहा था. इसी दौरान आरोपी ने किसी बात पर हुए झगड़े में अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या कर दी और वहां से फरार हो गया, जिसके बाद वह प्रयागराज में साधु बनकर कथा-भागवत सुनाने लगा.

दुर्ग के एडिश्नल एसपी विजय कुमार ने बताया कि पेंडिंग केसों की समीक्षा के दौरान यह मामला सामने आया, जिसके बाद दोबारा से मामले की छानबीन शुरू की गई. सुशील के लोकेशन का पता करने के लिए पुलिस ने उसकी पत्नी का कॉल ट्रेस किया, जिससे पता चला कि उसकी पत्नी पिछले दो सालों से किसी हनुमान दास महाराज लगातार बात कर रही है. जिसके बाद शक के आधार पर पुलिस ने छानबीन शुरू की और हनुमान दास तक जा पहुंची.

सुशील की पहचान करने के लिए पुलिस ने उसका स्कैच बनवाया था. जिसके आधार पर उसकी पहचान हो सकी.पुलिस ने जिस वक्त सुशील को गिरफ्तार किया उस समय वह संत हनुमान दास महाराज के नाम से मध्य प्रदेश के छतरपुर में ढेरों भक्तों के बीच भागवत कथा का वाचन कर रहा था. हनुमान दास को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस उसे भिलाई ले आई.

जहां उससे पूछताछ जारी है. पुलिस के मुताबिक आरोपी सुशील दुबे रामनगर के सुपेला गांव का रहने वाला है, जिसने 18 अक्टूबर 2018 को भिलाई में अपने साथ लिव इन में रहने वाली रीता साहू की हत्या कर दी और फरार हो गया. जिसके बाद आरोपी ने अपनी पहचान छिपाने के लिए अपना वेश बदल लिया और प्रयागराज के संगम तट पर संत हनुमान दास महाराज बनकर कथा वाचन करने लगा.