बांग्लादेश वनडे टीम के कप्तान बने सांसद

ढाका: बांग्लादेश चुनावों में प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग की शानदार जीत के बीच देश की वनडे टीम के कप्तान मुशर्रफ बिन मुर्तजा ने भी चुनाव में जीत हासिल की. इससे पहले मतदान के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में चुनाव से जुड़ी हिंसा में कम से कम 17 लोग मारे गए थे. मुशर्रफ बिन मुर्तजा ने अवामी लीग पार्टी की ही ओर से चुनाव लड़ा और ढाई लाख से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की.

सत्तारूढ़ पार्टी अवामी लीग की यह लगातार तीसरी दर्ज है. एनआई के मुताबिक मुर्तजा ने नरेल दो संसदीय सीट से चुनाव लड़ा था और कुल 274,418 वोट हासिल किए थे जबकि उनके निकटम प्रतिद्वंदी को केवल 8006 वोट ही हासिल हुए थे. मीडिया में आई खबरों के अनुसार अवामी लीग के नेतृत्व वाले गठबंधन ने 300 सदस्यीय सदन में 260 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज की. निजी डीबीसी टीवी ने 300 में से 299 सीटों के नतीजे दिखाए.

टीम के लिए ऑलराउंडर के तौर पर खेलने वाले मुशर्रफ मुर्तजा ने अपने वनडे करियर में 202 मैच खेले हैं  जिसकी 148 पारियों में उन्होंने 14.04 के  औसत और 87.84 के स्ट्राइक रेट से 1728 रन बनाए हैं. वहीं गेंदबाजी में उन्होंने 4.8 की इकोनॉमी और 31.36 के औसत से कुल 258 विकेट लिए हैं. उन्होने वनडे में सबसे ज्यादा 51 रन बनाए हैं तो गेंदबाजी में 26 रन देकर 6 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ वनडे प्रदर्शन है. वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में उन्हें केवल एक बार बल्लेबाजी करने का मौका मिला था, जिसमें उन्होंने केवल नाबाद 6 रन बनाए थे. वहीं इसी सीरीज में गेंदबाजी में उन्होंने 19.33 के औसत से कुल 6 विकेट लिए थे.

बांग्लादेश ने हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने ही घर में मुर्तजा की कप्तानी में ही वनडे सीरीज पर 2-1 से कब्जा किया था.  इसके अलावा टीम ने दो टेस्ट मैचों की सीरीज मे भी शानदार प्रदर्शन करते हुए क्लीन स्वीप किया था, लेकिन टी20 सीरीज में उसे 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था.

इन नतीजों के बाद जहां शेख हसीना चौथी बार देश की प्रधानमंत्री बनेंगी वहीं उनकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी खालिदा जिया ढाका जेल में अनिश्चित भविष्य का सामना कर रही हैं. वह कथित तौर पर आंशिक रूप से लकवाग्रस्त भी हैं.