बिजली कंपनी के अधिकारियों को मिली वसूली टारगेट से राहत

इंदौर। बिजली कंपनी में इन दिनों हर अधिकारी-कर्मचारी संबल योजना के क्रियान्वयन में व्यस्त हो गया है। इस योजना का फायदा देने के लिए हर जोन द्वारा शिविर लगाए जा रहे हैं। शिविर लगाने से जोन पर भीड़ न आए, साथ ही योजना का फायदा लेने के लिए हितग्राहियों को परेशान न होना पड़े इसके प्रयास किए जा रहे हैं। इसके साथ ही बिजली कंपनी के फील्ड के अधिकारियों ने राहत की सांस ले ली है। गत कुछ वर्षों से लगातार वसूली करने में व्यस्त अधिकारी अब सिर्फ बिल माफी की कागजी कार्रवाई करने में ही मशगूल हैं।
इसके साथ ही कई उपभोक्ता तो अब उन अधिकारियों को चिढ़ा भी रहे हैं, जो उन्हें लगातार वसूली करने के दौरान कानूनी कार्रवाई करने तथा कुर्की करने की धमकी देते थे, अब उन उपभोक्ताओं को ही अधिकारी बिल माफ करने के लिए बुला रहे हैं। इन परिस्थितियों में वसूली करने वाले अधिकारी भी हैरान हैं। जोन पर होने वाले विवादों का सिलसिला थम गया है। सूत्रों का कहना है कि बिजली कंपनी ने पहले तो उन उपभोक्ताओं के यहां हजारों रुपयों के बिल भेजे, जिनके घरों की खपत अत्यंत कम थी।
अब वही उपभोक्ता संबल योजना का फायदा लेने का पात्र हो गया। चुनावी लुभावनी इस योजना का फायदा लेकर अभी तो उपभोक्ता खुश हो रहे हैं, परंतु आगामी समय में बिजली कंपनी इन सभी हितग्राहियों के घरों में एक किलोवाट से अधिक लोड दर्शा कर योजना का फायदा देने से वंचित कर देगी। यह सब अब बिजली कंपनी के अधिकारियों के लिए खेल बन गया है।