बिजली विभाग के नोटिस से किसान परेशान

उज्जैन। किसान हितैषी सरकार ने अन्नदाता किसान काफी परेशान हो रहा है। यहां तक कि बिजली विभाग बिना किसी न्यायालयीन आदेश के किसानों के घरेलू सामान तथा मोटर साइकल आदि जब्त कर रहे हैं। पुलिस ने पीडि़त किसान की सुनवाई करते हुए माकड़ौन में बिजली विभाग के उपयंत्री के विरुद्ध गाड़ी छिनने का मामला दर्ज किया तो बिजली विभाग ने माकड़ौन की बिजली आपूर्ति रोकने की धमकी दे डाली। बिजली विभाग की ज्यादतीपूर्ण कार्रवाई से कई किसान पीडि़त है इसी तरह का मामला यह है कि तराना तहसील के किसानों को बिजली विभाग ने ४००० रुपए या उससे अधिक बकाया राशि वालो को नोटिस भेज कर तकादा लगाया जा रहा है कि किसान नियत दिनांक तक संबंधित राशि विभाग में जमा करावे अन्यथा किसान का घर या घर का सामान कुर्की कर वसूली की जाएगी।

इस प्रकार के आदेश क्र. १९९९ दिनांक ०७/०३/१८ की तहसीलदार का वसुली आदेश किसान रूघनाथ गंगाराम को भी मिला। इस पत्र में स्पष्ट लिखा गया है कि बकाया राशि जमा नहीं करने पर मकान/दुकान/चल अंचल संपत्ति जप्त कर कुर्की की जाएगी। विभाग के इस आदेश के बाद ग्रामीण किसान परेशान हो गये हैं। किसानों का कहना है कि हमारी फसल का भावांतर में पंजीयन हो गया हैं या बहुत से किसानों का पंजीयन हो रहा है। पंजीयन पश्चात खरीदी चालू होने पर किसान के पास रुपए आने पर कृषक अपनी बकाया राशि जमा करने की बात कर रहे है किंतु अभी तो किसान परेशान है।