बिहार और असम में बाढ़ से 17 लोगों की मौत

बिहार और असम में बारिश-बाढ़ से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। बिहार में कोसी, गंडक समेत 5 नदियां उफान पर हैं और 6 जिले इसकी चपेट में हैं। दूसरी ओर, असम में ब्रह्मपुत्र समेत 10 नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है। राज्य के 33 में से 25 जिलों में 15 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। काजीरंगा नेशनल पार्क का 70% से ज्यादा हिस्सा डूब चुका है।

बिहार के आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव अमृत ने बताया कि नदियों का जलस्तर बढ़ने से 6 जिले- शिवहर, सीतामढ़ी, चंपारण, मधुबनी, अररिया और किशनगंज में जनजीवन पर असर पड़ा है। किशनगंज में दो बच्चों की जान गई। एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हैं। बाढ़ के चलते 7 ट्रेनें रद्द हुईं।

असम में 15 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित

असम के 25 जिलों में 15 लाख से ज्यादा लोगों पर बाढ़ का असर पड़ा है। रेस्क्यू टीमों ने करीब 20 हजार लोगों को 68 राहत शिविरों में पहुंचाया। बारपेटा जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां पांच लाख से ज्यादा लोगों को विस्थापित किया गया। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को फोन कर बाढ़ के हालात की जानकारी दी। शाह ने असम और अन्य राज्यों में बाढ़ की समीक्षा के लिए उच्चस्तरीय बैठक की।