बीएसडब्ल्यू के विद्यार्थियों को दी विदाई

उज्जैन। खुद के लिए तो सभी सोचते हैं परन्तु स्वहित से परहित की सोच का विकास समाजकार्य स्नातक पाठ्यक्रम से ही संभव है। बीएसडब्ल्यू (बैचलर ऑफ सोशल वर्क) तो केवल डिग्री है परन्तु महात्मा गांधी, बड़वानी की माधुरी बेन, अन्ना हजारे वे नाम हैं. जिन्होंने व्यवहारिक और प्रायोगिक रूप से जनता के बीच जाकर स्वयं के जीवन को अलग रखकर समाज के विकास और समाज विकास के माध्यम से राष्ट्र के उत्थान का कार्य किया है।

यह बात सीएम सामुदायिक नेतृत्व विकास क्षमता कार्यक्रम के तहत महिला सशक्तिकरण विभाग द्वारा संचालित बीएसडब्ल्यू तृतीय वर्ष के छात्रों के 3 जून को आयोजित विदाई समारोह में शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय माधवनगर में समारोह की अध्यक्षता करते हुए जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी साबिर अहमद सिद्दीकी ने कही। मुख्य अतिथि उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य डॉ. भरत व्यास थे। संचालन संजय व्यास ने किया। आभार सविता भावसार ने माना। जानकारी विजयेंद्रसिंह आरोण्या ने दी।