बुराड़ी केस: सस्पेंस खत्म, 11वीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया बुजुर्ग महिला की मौत का सच

दिल्ली के बुराड़ी में हुई सनसनीखेज 11 लोगों की मौत के मामले का खुलासा लगभग हो चुका है। सामूहिक मौत मामले में 11वीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ गई है। ये रिपोर्ट घर की सबसे बुजुर्ग महिला नारायणी देवी की है। पुलिस ने नारायणी देवी की मौत का कारण फंदे पर लटकना बताया है।

डॉक्टरों की टीम ने इसे एंटी मोर्टम हैंगिंग बताया है। इससे पहले बुराड़ी सामूहिक मौत मामले में परिवार के 10 लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई थी। परिवार के सभी 10 सदस्यों की मौत का कारण फंदे पर लटकना था। 11वीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद अब साफ हो गया है कि सभी लोगों ने फंदे पर लटककर खुदकुशी की थी।

दस लोगों के लटकते शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी भी गड़बड़ी की आशंका को खारिज करते हुए कहा गया है कि इनकी मौत फंदे पर लटकने से हुई है। अधिकारी ने बताया कि परिवार के दस लोगों की आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि उनकी मौत फांसी लगने के कारण हुई है और शवों पर कुछ खरोंच के अलावा चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट से पता चलता है कि उनकी मौत फांसी पर लटकने से हुई है।

इस मामले को लेकर शक जताया जा रहा है कि इस परिवार ने तंत्र-मंत्र के चलते सामूहिक आत्महत्या की है। लेकिन परिवार के रिश्तेदारों का कहना है कि यह परिवार आत्महत्या नहीं कर सकता, इनका साजिश के तहत मर्डर किया गया है।

गत एक जुलाई को एक ही परिवार के दस सदस्यों के शव छत से लगी लोहे की जाली से लटकते पाये गये थे। वहीं, नारायण देवी का शव दूसरे कमरे में जमीन पर पड़ा पाया गया था। मृतकों में नारायण देवी की बेटी प्रतिभा (57) और उसके दो बेटे भावेश (50) और ललित (45) शामिल थे।

भावेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे नीतू (25), मेनका (23) और धीरेंद्र (15) भी मृत पाये गये थे। इसके अलावा ललित की पत्नी टीना (42) उसका बेटा दुष्यंत (15) और प्रतिभा की बेटी प्रियंका भी शामिल थे। प्रियंका की पिछले महीने सगाई हुई थी। पुलिस को घर से 11 डायरियां भी मिली थी।