बोरिंग हो गई है शादीशुदा जिंदगी तो इन 5 तरीकों से पाएं पहले जैसी खुशियां

शादी के बाद पति-प‍त्‍नी दोनों एक दूसरे के लिए समर्पित रहते हैं। एक दूसरे की जरूरतों को पूरा करते हैं, लेकिन फिर कुछ दिनों बाद शादीशुदा जिंदगी रंगीन से ब्‍लैक एंड व्‍हाइट होने लगती है। कुछ नयापन नहीं रह जाता है। जिंदगी हमें इस कदर व्यस्त कर देती है कि हमें एक-दूजे के लिए वक्त ही नहीं मिल पाता। बड़ी-बड़ी चाहतों को पूरा करने की जद्दोजेहद में छोटी-छोटी खुशियां कहीं खो जाती है। लेकिन, आपके साथी के चेहरे पर एक छोटी सी मुस्कान का मोल लगा सकते हैं। एक दूजे के हाथों को थामने से जो सुकून मिलता है उसका कोई जोड़ नहीं। अगर आपकी भी मैरिड लाइफ में रोमांच नहीं रहा तो ये टिप्‍स आपके लिए हैं। 

क्‍वालिटी टाइम बिताएं 

हंसी वो जादुई पिटारा है, जिसके खुलते है सब गम काफूर हो जाते हैं। हंसी-मजाक रिश्तों पर जम रही काई को हटा देते हैं। या कहें कि ‘चैरी ऑन द केक’ का काम करते हैं। जब सब कुछ अच्छा चल रहा हो, उस दौरान भी हंसी रिश्तों के लिए टॉनिक का काम करती है। भले ही आपके पास वक्त की कमी हो, लेकिन कोशिश करें कि आप एक दूसरे के साथ क्वालिटी टाइम बिताएं। एक दूसरे की बातों को सुनें, समस्याओं को समझें और मिलकर इसका हल निकालें। एक रिसर्च से पता चला है कि जो लोग शादी के बाद भी हंसी-मजाक करते रहते हैं, उनकी मैरिज लाइफ ज्यादा दिनों तक टिकी रहती है।

खुश रहें और खुश रखें 

हमेशा खुश रहना और अपने आसपास के लोगों को भी प्रसन्न रखना एक कला है। यह कला सबमें नहीं होती, लेकिन जिसमें होती है वह सबका मन जीत लेता है। जीवनसाथी के रूप में भी ऐसे पुरुषों को महिलाएं प्राथमिकता देती हैं। गुमसुम, उदास खुद में गुम रहने वाले पुरुष कम ही महिलाओं को पसंद आते हैं।  जो लोग खुश रहना और हंसना-हंसाना जानते हैं, वे अक्सर समस्याओं से लड़ने के मामले में भी बेहद सकारात्मक रुख अपनाते हैं। पति के रूप में अधिकांश महिलाओं को ऐसे पुरुष पसंद आते हैं, जिनका सेंस ऑफ ह्यूमर अच्छा हो, क्योंकि ऐसे लोग समस्याओं का सामना करते समय भी अपना आपा नहीं खोते। यही नहीं, वे लोगों की भावनाओं की कद्र करना भी जानते हैं। उन्हें मालूम होता है कि उनका परिहास किस तरह लोगों को कुछ देर का तनावमुक्त माहौल दे सकता है।

वक्त निकालें

व्यस्त दिनचर्या के चलते आपको एक दूसरे के लिए वक्त निकालना पड़ेगा। सुबह जल्दी उठकर या दफ्तर से जाने के बाद, भोजन करने के बाद शाम का समय साथ में टहलने के लिए निकालें। साथ समय बिताने का मौका भी मिल जाएगा और सैर भी हो जाएगी।

पुरानी यादों को आपस में करें शेयर  

शादी का एल्बम निकालकर साथ में देख सकते हैं। उन खूबसूरत लम्हों को एक बार फिर साथ जी लिया जाए। उन बातों को याद किया जिनकी वजह से मजबूत हुआ था आपका रिश्ता।

काम में बंटाएं हाथ 

रसोई सिर्फ आपकी पत्नी की ही जिम्मेएदारी नहीं है। क्यों नहीं आप दोनों वहां मिलकर काम करते। कभी-कभी तो उनके कामों में मदद कर ही सकते हैं। और अगर छुट्टी के दिन उन्हें सरप्राइज करने के लिए खुद ही खाना पकाएं तो बात ही क्या।

पार्टनर की पसंद का रखें ख्‍याल 

कोशिश करें कि टीवी पर हंसी मज़ाक के कार्यक्रम, कॉमेडी पिक्चर या शो साथ बैठ कर देखें। इससे वाकई आपके रिशतों में मिठास आएगी और आप एक दूसरे के करीब आएंगे। लेकिन साथ ही अपने पार्टनर की पसंद का पूरा खयाल रखें कि उसे कौन सी बात ज्यादा खुश करती है।