ब्रेकफास्ट नहीं करेंगे तो आपको होगी ये 6 हैल्थ प्रॉब्लम्स

नाश्ता दिन का सबसे जरूरी भोजन होता है। इससे ना सिर्फ मेटाबॉलिज्म स्टार्ट होता है बल्कि यह दिनभर एनर्जी भी देता है। मगर बिजी शेड्यूल या डाइटिंग के चलते आजकल लोग अपना ब्रेकफास्ट करना जरूरी नहीं समझते, जोकि गलत है। इससे ना सिर्फ आप मोटापे का शिकार होते हैं बल्कि यह कई गंभीर बीमारियों को भी जन्म देता है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप सुबह खाना जरूर खाएं।

नाश्ता करने का सही समय
अगर आप सुबह का नाश्ता नहीं करते तो आप वजन बढ़ना, हार्ट डिजीज, डायबिटीज और स्ट्रेस जैसी बीमारियों का शिकार हो सकते हैं इसलिए सुबह उठने के 1 घंटे के अंदर ब्रेकफास्ट कर लें।

कैसा होना चाहिए ब्रेकफास्ट?
कोशिश करें आपके नाश्ते में विटामिन्स, मिनरल्स और अन्य खाद्य पदार्थ भरपूर मात्रा में शामिल हो। वहीं नाश्ते में बहुत ज्यादा खाना या कम भोजन खाना भी सही नहीं है। एक्सपर्ट के मुताबिक, ब्रेकफास्ट में 1 कटोरी या 5-8 चम्मच अनाज, 10-15 ग्राम लीन प्रोटीन और 1 गिलास जूस लेना चाहिए।

चलिए आपको बताते हैं कि अगर आप ब्रेकफास्ट नहीं करेंगे तो आपको किन बीमारियों से रूबरू होना पड़ सकता है।

वजन बढ़ना
अगर आपको लगता है कि नाश्ता छोड़ने से वजन कम हो जाएगा तो आप बिल्कुल गलत है। खाना छोड़ने से आपको शक्कर और अनहेल्दी चीजों को खाने की क्रेविंग होती है। साथ ही इससे मेटाबॉलिज्म भी धीमी हो जाता है, जिससे वजन कम हो की बजाए बढ़ने लगता है

माइग्रेन की समस्या
नाश्ता छोड़ने का मतलब है कि आप अपने ब्लड शुगर लेवल को खतरे में डाल रहे हैं, जो माइग्रेन और सिरदर्द को ट्रिगर करता है। ऐसे में जरूरी है कि आप हर सुबह एक स्वस्थ नाश्ता खाएं।

हार्ट अटैक
शोध के मुताबिक, नाश्ता ना करने वाले लोगों में हार्ट अटैक का खतरा 27% ज्यादा होता है। ऐसे में अगर आप भी हार्ट अटैक से बचना चाहते हैं तो रोजाना नाश्ता जरूर करें।

एनर्जी की कमी
नाश्ता आपको दिनभर एनर्जेटिक रखता है। वहीं जब आप ब्रेकफास्ट नहीं करते तो ग्लूकोस इंडेक्स कम होता है, जिससे आप एनर्जी की कमी, थकान, आलस और सुस्ती महसूस होने लगती हैं। कई बार तो इसके कारण चिड़चिड़ापन भी आ जाता है।

डायबिटीज
सुबह का नाश्ता करने पर टाइप 2 डायबिटीज का खतरा 54% तक बढ़ जाता है। नाश्ता न करने से हाइपोग्लाइसिमिक (बॉडी का शुगर लेवल कम होने) की प्रॉब्लम हो जाती है, जोकि डायबिटीज का कारण है।

एसिडिटी
रात का भोजन डाइजेस्ट होने के बाद पेट खाली हो जाता है और रातभर पेट खाली रहने के कारण उसमें एसिड्स की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे में अगर आप सुबह का नाश्ता भी नहीं करते तो एसिडिटी की प्रॉब्लम हो जाती है।