भायल बोले- कृषि मंडी में खींचतान इसलिए दिया उद्योग संघ से इस्तीफा

अक्षरविश्व न्यूज. उज्जैन:उद्योग संघ के कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले दिनेश भायल ने अक्षरविश्व से कहा है कि कृषि उपज मंडी में राजनीतिक रूप से आपसी खींचतान से आहत होकर उन्होंने अपना इस्तीफा दिया है। हालांकि यह बात अलग है कि मंडी व्यापारी संघ और उद्योग संघ का आपस में कोई संबंध नहीं है।श्री भायल का कहना है कि उद्योग संघ कांग्रेसी विचारधारा के है तथा मंडी व्यापारी संघ से भी वे जुड़े होकर कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ता है। बता दें कि बीते दिनों व्यापारी संघ के शपथ विधि समारोह में कांग्रेस सरकार के दो मंत्रियों को आमंत्रित किया गया था लेकिन वे किसी कारण कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके।

भायल का कहना है कि व्यापारी संघ और उद्योग संघ दोनों से ही व्यापारियों का किसी न किसी रूप से संबंध है और संघ के शपथ विधि कार्यक्रम में मंत्रियों को आने से रोकने के पीछे हमारे ही कुछ कांग्रेसी साथियों का हाथ है। यही कारण है कि उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अपना इस्तीफा बटुकशंकर जोशी को सौंपा है।

संघ की स्थापना जोशी के भाई डॉ. बमशंकर जोशी ने की थी। भायल को कार्यकारी अध्यक्ष पद पर मनोनीत किया गया था। भायल आज शाम को अपना इस्तीफा शहर कांग्रेस अध्यक्ष महेश सोनी को भी सौंपेंगे जबकि इस्तीफे की प्रतिलिपि उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ व प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया को भी भेजी है। उनका कहना है कि हम दिखावे की राजनीति नहीं करते है। उनका यह भी कहना था कि मंडी को राजनीति का अखाड़ा बनाने वाले कौन है, इसका भी पता लगाया जाकर मुख्यमंत्री को शिकायत की जाएगी।